गुजरात में 11 नए पीएसए ऑक्सीजन प्लांट को मिली मंजूरी, जल्द होंगे शुरू : शाह

अमित शाह (File Photo : IANS)

पीएम केयर फंड के माध्यम से शुरू किए जा रहे है नए पीएसए प्लांट, अतिरिक्त ऑक्सीज़न पहुंचाया जाएगा अन्य राज्यों में

गांधीनगर, 24 अप्रैल (आईएएनएस)| केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शनिवार को कहा कि केंद्र सरकार ने गुजरात में 11 नए पीएसए ऑक्सीजन प्लांट लगाने की मंजूरी दी है और वे जल्द ही चालू होंगे। शाह ने शनिवार को गुजरात में गांधीनगर जिले के कोलवड़ा में कोविड डेजीगनेटेड अस्पताल में 280 पीएसए ऑक्सीजन प्लांट का उद्घाटन करने के बाद यह जानकारी दी।
ऑक्सीजन प्लांट का उद्घाटन करने के बाद गृह मंत्री ने कहा कि कोलवाड़ा में 66 रोगियों का इलाज चल रहा है, जिन्हें आज (शनिवार) से ऑक्सीजन की सुविधा प्रदान की जाएगी। इस प्लांट से रोगियों को प्रति मिनिट 280 लीटर ऑक्सिजन मिलेगी, साथ ही आकस्मिक समय के लिए यहां ऑक्सीजन सिलेंडर भी उपलब्ध कराए गए हैं, जिससे मरीजों को कोई असुविधा न हो।
(Photo : IANS)

शाह कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दूरदर्शी नेतृत्व में देश भर में एक विशेष अभियान शुरू किया गया है, जिसमें पीएम केयर फंड से ऑक्सीजन उपलब्ध कराने की योजना के तहत केंद्र सरकार ने गुजरात में 11 नए पीएसए ऑक्सीजन प्लांट लगाने की स्वीकृति दी है। ये प्लांट जल्द ही चालू हो जाएंगे और इनमें उत्पादित ऑक्सीजन की अतिरिक्त मात्रा अन्य राज्यों में पहुंचाई जाएगी।
उन्होंने कहा कि गुजरात एक औद्योगिक राज्य है, जहां अधिक ऑक्सीजन का उत्पादन किया जा रहा है, जिससे दूसरे राज्यों को मदद मिलेगी। इस अवसर पर मुख्यमंत्री विजय रूपाणी, उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल और गांधीनगर जिले के वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे। गुजरात के मुख्यमंत्री रूपाणी और उपमुख्यमंत्री पटेल को उनके संसदीय क्षेत्र में ग्रामीण नागरिकों को उपलब्ध कराई गई सेवाओं के लिए बधाई देते हुए, अमित शाह ने कहा कि कोरोना की पहली लहर में कड़ी मेहनत करते हुए उन्होंने जो काम किया है, उन्हें विश्वास है कि इस दूसरी लहर में भी, हम कोरोना को हराएंगे और गुजरात के नागरिकों को इस महामारी से बाहर लाएंगे और उनकी रक्षा करेंगे।
केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि टाटा संस और डीआरडीओ के सहयोग से गांधीनगर के हेलीपैड ग्राउंड में 600 आईसीयू बेड की सुविधा के साथ 1200 बेड का अस्पताल जल्द ही चालू हो जाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि इसके लिए काम शुरू किया गया है और जल्दी ही नागरिकों को इसका लाभ मिलेगा।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें