108 एम्बुलेन्स नहीं पहुंची तो रोड़ पर ही गई डिलिवरी!

प्रतिकात्मक तस्वीर (Photo Credit : Pixabay.com)

अहमदाबाद के सरखेज का मामला

अहमदाबाद के सरखेज रोड पर आर्थिक तंगी के कारण एक परिवार को की महिला को फुटपाथ पर ही डिलीवरी करानी पड़ी।  महिला को दर्द हो रहा था उस दौरान 108 को फोन किया लेकिन वह नही पहुंची तब बेटी के जन्म के बाद माता और बेटी को अस्पताल ले जाया गया। 21 अप्रैल की घटना में एक दर्द से कराह रही महिला को रिक्शा चालक सर्कल सरखेज अर्बन हेल्थ सेंटर ले गया था जहां की डॉक्टरों ने उसके गर्भ की नाल काट कर उपचार शुरू की थी जिस दिन डिलीवरी हुई उस दिन महिला के पास रुपए नहीं होने से उसने सिर्फ चाय और बिस्किट का नाश्ता किया था।
(Photo Credit : Sandesh.com)
कोरोना के कारण कामंधधा बंद होने से परेशान है लोग
बात ऐसी है कि मूल तौर पर गांधीनगर जिला के दहेज गांव के निवासी अशोक बीते 2 साल से अहमदाबाद में रहते हैं। उनकी पत्नी कपिला बहन के साथ कुल 15 लोग मजदूरी करके अपने घर का गुजरात चलाते हैं। सरखेज रोड पर एमटीएस बस स्टॉप के सामने फुटपाथ पर यह परिवार रहता है। कोरोना की दूसरी लहर चल रही है। ऐसे में अशोक की पत्नी गर्भवती थी मजदूरी काम नहीं मिलने के कारण परिवार के पैसे खत्म हो गए थे और लोगों से मांग कर जीवन निर्वाह कर रहे थे। 21 तारीख को कपिला को सवेरे प्रसूति की पीड़ा शुरू हो गई थी।जिससे कि उन्होंने कराहना शुरू कर दिया था। लेकिन कोई मदद के लिए नहीं आया और आखिरकार रास्ते मे ही बच्ची का जन्म हो गया। इस दौरान उन्होंने कई बार 108 को फोन किया लेकिन यह जवाब मिला कि 108 सिर्फ कोरोना के मरीजों को ही हैंडल कर रही है। बच्ची के जन्म के बाद स्थानीय लोगों ने एक रिक्शा चालक करके कपिला को होस्पिटल भेज दिया। जहां की हेल्थ सेंटर के डॉक्टरों ने कपिला की उपचार की।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें