अंडर 19 महिला विश्व कप 2023 : भारत ने रचा इतिहास, अंग्रेजों को 7 विकेट से पटखनी देते हुए विश्व कप पर किया कब्जा

अंडर 19 महिला विश्व कप 2023 : भारत ने रचा इतिहास, अंग्रेजों को 7 विकेट से पटखनी देते हुए विश्व कप पर किया कब्जा

भारत ने पहले गेंबाजी करते हुए अंग्रेजी टीम को महज 68 पर सिमेटा, आसानी से किया कप पर कब्ज़ा

दक्षिण अफ्रीका में खेले जा रहे पहले अंडर-19 महिला विश्व कप को भारत ने जीतकर इतिहास रच दिया। इंग्लैंड और भारत के बीच खेले गए फाइनल मुकाबले में भारत ने शानदार प्रदर्शन करते हुए इंग्लैंड को सात विकेट से हारते हुए पहले विश्व कप पर कब्जा कर लिया। शैफाली वर्मा के नेतृत्‍व वाली भारतीय महिला क्रिकेट टीम आईसीसी अंडर-19 टी20 वर्ल्‍ड कप की पहली चैंपियन बनी। ये विश्व महिला टीम के लिए इस मायने में भी बहुत खास है क्योंकि ये भारतीय महिला के लिए किसी भी स्तर पर पहला विश्व कप है। इससे पहले सीनियर भारतीय महिला टीम टी20 और 50 ओवर वर्ल्‍ड कप फाइनल तक पहुंची, लेकिन खिताब जीतने में नाकाम रही।

आपको बता दें कि मैच में भारत की कप्तान शेफाली वर्मा ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला लिया। टीम इंडिया ने शानदार गेंदबाजी के दम पर पूरी इंग्लिश टीम को महज 68 रन पर ढेर दिया है। वर्ल्ड चैंपियन बनने के लिए भारत के सामने 69 रन का लक्ष्य है। लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय महिला टीम ने 36 गेंदें शेष रहते हुए 7 विकेट से मात दी।

भारतीय गेंदबाजों की शानदार गेंदबाजी, सस्ते में सिमटी अंग्रेजी टीम

मैच के शुरुआत में जहां कप्तान शैफाली ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला लिया वहीं भारतीय गेंदबाजों ने इसे पूरी तरह से सही साबित कर दिया। तितस साधू ने लिबर्टी हीप को खाता भी नहीं खोलने दिया और अपनी गेंद पर उनका आसान कैच लपका। इसके बाद एक के बाद एक झटका देते हुए भारतीय गेंदबाजों ने अंग्रेजी पारी को केवल 68 रन पर समेट दिया। भारत की तरफ से तितस साधू, अर्चना देवी और पार्शवी चोपड़ा ने दो-दो विकेट लिए। मन्‍नत कश्‍यप, शैफाली वर्मा और सोनम यादव के खाते में एक-एक सफलता आई।

कुछ ऐसा रही भारत की पारी

इसके बाद 69 रन के आसान लक्ष्‍य का पीछा करने उतरी भारतीय महिला क्रिकेट टीम को शैफाली वर्मा (15) और श्‍वेता सेहरावत (5) ने तेज शुरुआत दिलाई। पहले दो ओवर में बिना विकेट खोए 16 रन बना लिए। इसके बाद बेकर ने वर्मा को मिड ऑन पर स्‍टोनहाउस के हाथों कैच आउट कराकर भारत को पहला झटका दिया। इसके बाद श्‍वेता सेहरावत स्‍क्रीवंस की गेंद पर खराब शॉट खेलकर अपना विकेट गंवा बैठीं। यहां से सौम्‍या तिवारी (24*) और गोनगाडी त्रिशा (24) ने संभलकर धीरे धीरे खेलते हुई तीसरे विकेट के लिए 46 रन की साझेदारी करके भारत को जीत के करीब पहुंचाया। टीम को जब जीत के मात्र 3 रन चाहिए थे तभी स्‍टोनहाउस ने त्रिशा को बोल्‍ड करके भारत को तीसरा झटका दिया। इसके बाद तिवारी ने विजयी रन जमाकर भारत को चैंपियन बनाया। इंग्‍लैंड की तरफ से हनाह बेकर, ग्रेस स्‍क्रीवंस और एलेक्‍सा स्‍टोनहाउस को एक-एक विकेट मिला।

भारत की श्वेता रही टूर्नामेंट की टॉप स्कोरर

भारत की गेंदबाज तितस साधू को प्लेयर ऑफ द मैच जबकि इंग्लैंड की कप्तान ग्रेस स्‍क्रीवेंस को प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट का खिताब दिया गया। भारत की ओपनर श्वेता शेरावत टूर्नामेंट की टॉप स्कोरर रहीं। उन्होंने7 मैचों में 99 के औसत से 296 रन बनाए। अब जल्द ही सीनियर खिलाड़ियों का विश्व कप आने वाला है ऐसे में भारत की यह जीत टीम को विशेष मनोबल देगी।

Tags: Cricket