अहमदाबाद : सिविल अस्पताल में अंगदान ने एक अफ्रीकी महिला को दिया नया जीवन

अहमदाबाद : सिविल अस्पताल में अंगदान ने एक अफ्रीकी महिला को दिया नया जीवन

गुजरात के चिकित्सा क्षेत्र में एक ऐतिहासिक उपलब्धि जुड़ गई

गुजरात के चिकित्सा क्षेत्र में एक ऐतिहासिक उपलब्धि जुड़ गई है। शनिवार की रात अहमदाबाद सिविल अस्पताल में फेफड़े के अंग प्रत्यारोपण ने पूर्वी अफ्रीका के सेशेल्स की एक महिला को नया जीवन दिया है। सुरेंद्रनगर के राकेशभाई वाघेला को अहमदाबाद सिविल अस्पताल में इलाज के दौरान ब्रेनडेडघोषित कर दिया गया और उनके परिवार ने उनके अंगों को दान करने का फैसला किया। जिसमें दो किडनी, एक लिवर और एक फेफड़ा, जो दुर्लभ मामलों में सफल रहा। इस फेफड़े के दान के कारण पूर्वी अफ्रीका के सेशेल्स की एक 35 वर्षीय महिला रोगी को पुनर्जीवित किया गया।  रविवार सुबह तड़के, ब्रेन-डेड मरीज के फेफड़े को सिविल अस्पताल से ग्रीन कॉरिडोर के माध्यम से मुंबई के ग्लोबल अस्पताल में भर्ती महिला मरीज में प्रत्यर्पण के लिए ले जाया गया। छह से आठ घंटे तक चली ट्रांसप्लांट सर्जरी के अंत में महिला को वास्तव में नवजीवन मिला। 

अस्पताल में  17 दिसंबर को हुआ यह अंगदान 96वां अंगदान था

अहमदाबाद सिविल अस्पताल में कल 17 दिसंबर को हुआ यह अंगदान 96वां अंगदान था। इस अंगदान की जानकारी के अनुसार सुरेंद्रनगर के 25 वर्षीय राकेशभाई वाघेला को सिर में दर्द होने पर इलाज के लिए अहमदाबाद सिविल अस्पताल लाया गया। जहां इलाज के दौरान उसे ब्रेन डेड घोषित कर दिया गया। सिविल अस्पताल के डॉक्टरों की काउंसलिंग से उसके परिजन अंगदान के लिए प्रेरित हुए।

अहमदाबाद सिविल अस्पताल ने दिसंबर 2020 में शुरू हुए अंगदान अभियान के 2 साल पूरे

उल्लेखनीय है कि अहमदाबाद सिविल अस्पताल ने दिसंबर 2020 में शुरू हुए अंगदान अभियान के 2 साल पूरे कर लिए हैं। इन दो वर्षों में सिविल अस्पताल के डॉक्टरों की मेहनत और अंगदाताओं के परिजनों के सहयोग व सेवा के फलस्वरूप कुल 96 अंगदान किए जा चुके हैं। इन 96 अंगदानों में से 303 अंगों का सफलतापूर्वक प्रत्यारोपण किया गया है और 280 जरूरतमंद रोगियों नवजीवन दिया गया है। इसकी जानकारी देते हुए सिविल अस्पताल के अधीक्षक डॉ. राकेश जोशी का कहना है कि सिविल अस्पताल की अंगदान सेवा में मील का पत्थर कहे जा सकने वाला मामला बीती रात देखने को मिला है। गुजरात के ब्रेन डेड मरीज के फेफड़े को पूर्वी अफ्रीका के सेशेल्स की एक महिला में सफलतापूर्वक ट्रांसप्लांट किया गया। सिविल अस्पताल की उपलब्धि की सराहना करते हुए गुजरात के स्वास्थ्य मंत्री ऋषिकेश पटेल का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 
का मेडिसिटी को विश्व स्तरीय बनाने का सपना सच हो रहा है।
Tags: 0

Related Posts