पुतिन ने हत्या के डर से इतने सारे कर्मचारियों को काम से निकाल दिया

पुतिन ने हत्या के डर से इतने सारे कर्मचारियों को काम से निकाल दिया

संभावित परमाणु हमले के डर से पुतिन ने अपने परिवार को एक रहस्यमय अंडरग्राउंड शहर में छिपाया, खुद की सुरक्षा के लिए पर्सनल स्टाफ के 1000 कर्मचारियों को काम से निकाला

रूस और युक्रेन के बीच युद्ध रुकने का नाम नहीं ले रहा है और वहीं रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की परेशानियां कम होती नहीं दिख रहीं। युद्ध के लगभग एक महीने के बाद भी रूस युक्रेन पर पूरी तरह कब्ज़ा नहीं कर पाया है वहीं रूस में राष्ट्रपति पुतिन अपनी जान को लेकर आशंकित हैं। राष्ट्रपति पुतिन ने संभावित परमाणु हमले के डर से अपने परिवार को एक रहस्यमय अंडरग्राउंड शहर में छिपा दिया है। यहाँ तक कि उन्होंने अपने पर्सनल स्टाफ के 1000 कर्मचारियों को काम से निकाल दिया है। पुतिन को डर है कि जहर देकर उन्हें मारा जा सकता है।
आपको बता दें कि फ्रांस के एक गुप्त एजेंट ने भी ऐसा कुछ दावा किया है कि क्रेमलिन के अंदर के लोग तख्तापलट करने और पुतिन को सत्ता से बेदखल करने के लिए उनकी हत्या भी की जा सकती हैं। साथ होई बताते चले कि रूसी सरकार अपने दुश्मनों को जहर देकर मारने के लिए ही जानी जाती है। ऐसे में इस बात में सच्चाई देखी जा सकती है। इस फ्रेंच एजेंट का कहना है कि रशियन इंटेलिजेंस इकलौती ऐसी एजेंसी है जो जहर का इस्तेमाल करती है।
गौरतलब है कि कई वरिष्ठ राजनीतिक लोगों ने इन युद्ध को रोकने और पुतिन को हारने के लिए पुतिन के करीबी को उनकी हत्या करने की कोशिश करने के लिए प्रोत्साहित किया है। शायद यही वो वजह है कि वह इतने डरे हुए हैं। बता दें कि दक्षिण कैरोलिना के सीनेटर लिंडसे ग्राहम ने ट्वीट कर पुतिन की हत्या का आह्वान किया था। लिंडसे ने ट्वीट किया किया था कि 'इन सब को खत्म करने का सिर्फ एक तरीका ये है कि कोई पुतिन को बाहर निकाल दे। यह आप अपने देश के लिए करेंगे, दुनिया के लिए करेंगे।'

Related Posts