पंजाब : कुएं में से मिले नरकंकालों की असलियत आई सामने, 160 साल पुराने अंग्रेज़ो के खिलाफ हुई बगावत के दौरान मारे गए सैनिकों का होने का दावा

पंजाब : कुएं में से मिले नरकंकालों की असलियत आई सामने, 160 साल पुराने अंग्रेज़ो के खिलाफ हुई बगावत के दौरान मारे गए सैनिकों का होने का दावा

पंजाब के अजनाला में एक कुएं में से कुछ सालों पहले मिले नर कंकालों का रहस्य सामने आ चुका है। सेंटर फॉर सेल्यूलर एंड मॉलेक्युलर बायोलॉजी के वैज्ञानिकों ने पंजाब विश्वविद्यालय बीरबल साहनी संस्था तथा बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के अन्य संशोधन कर्ताओं के साथ अपने रिसर्च में इस रहस्य का पर्दाफ़ाश किया है। रिसर्च में सामने आया है कि अजनाला में से मिले यह नर कंकाल 160 साल पुराने भारतीय जवानों के है। जिन्होंने जो कि 1857 में ब्रिटिश सरकार के सामने हुए बगावत में में शामिल होंगे। हालांकि वैज्ञानिक प्रमाणों की कारण शहीदों को की पहचान पर चर्चा चल रही है। 

सूत्रों के अनुसार वैज्ञानिकों ने कुएं में से निकाले गए अवशेषों के डीएनए तथा आइसोटोप एनालिसिस के बाद यह जानकारी दी कि 160 साल पुराने यह नर कंकाल गंगा किनारे रहने वाले लोगों को है। इतिहास लिखने वाले लोग मानते हैं कि यह नर कंकाल भारत तथा पाकिस्तान के बीच हुए विभाजन के दौरान मारे हुए लोगों के हैं जबकि अन्य कई इतिहासकार इस बात का उल्लेख करते हैं कि ब्रिटिश सरकार के सामने हुए पहली बगावत के दौरान यह सैनिक मारे गए थे।
नर कंकालों की असलियत जानने के लिए पंजाब विश्वविद्यालय के डॉक्टर जेएस सहरावत सेंटर फॉर सेल्यूलर एंड मॉलेक्युलर बायोलॉजी हैदराबाद, बीरबल सहनी इंस्टीट्यूट लखनऊ तथा बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के वैज्ञानिक के साथ मिलकर डीएनए तथा आइसोटोप संशोधन में शामिल हुए थे। जिसमें उनकी हड्डियां खोपड़ी तथा दांत के डीएनए टेस्ट किए गए थे।
Tags: Punjab

Related Posts