पोरबंदर : रास्ते में मरीज का ऑक्सीजन स्तर आया 50 के नीचे, 108 के ईएमटी ने कुछ ऐसे बचाई जान

पोरबंदर : रास्ते में मरीज का ऑक्सीजन स्तर आया 50 के नीचे, 108 के ईएमटी ने कुछ ऐसे बचाई जान

108 ने अप्रैल में 503 जबकि मई में अब तक 240 लोगों को अस्पताल पहुँचाया

पोरबंदर के नरसांग पहाड़ी इलाके में रहने वाली 32 वर्षीय महिला दर्शनाबेन मकवाना को इमरजेंसी में राजकोट ले जाया जा रहा था। इस बीच रास्ते में उनका ऑक्सीजन स्तर 50 से नीचे चला गया, जिससे गंभीर स्थिति पैदा हो गई। ऐसे में 108 के ई.एम.टी. राजेशभाई जोशी ने अपनी चतुराई से इस परिस्थिति को सँभालते हुए अंबु बैग के माध्यम से दर्शनबेन को कृत्रिम श्वसन देने की कोशिश की और इससे दर्शनाबेन का ऑक्सीजन स्तर 80 तक पहुंच गया। इसके बाद उन्हें अस्पताल पहुंचाया जा सके। जहां उनका बेहतर इलाज किया गया।
उल्लेखनीय है कि पोरबंदर जिले में कुल 8 ऑन-रोड एम्बुलेंस और 1 नाव एम्बुलेंस ऐसे कुल 9 एम्बुलेंस हैं। जिसमें 18 ईएमटी और 15 पायलट दिन-रात ड्यूटी पर लगे हुए हैं। अप्रैल माह के दौरान कुल 503 कोरोना मरीजों को इलाज के लिए 108 सुविधा से नजदीकी अस्पताल में शिफ्ट किया गया। मई माह में अब तक कुल 240 मरीजों को इलाज के लिए शिफ्ट किया गया है।
इस बीच, राजेशभाई जैसे कर्मचारियों का प्रदर्शन अन्य कर्मचारियों को भी प्रेरित कर रहा है। पोरबंदर 108 एम्बुलेंस के सभी कर्मचारी दिन-रात मरीज की सेवा के लिए समर्पित हैं।

Related Posts