लोकसभा चुनावः छठे चरण के लिए कल डाले जाएंगे वोट, मेनका और खट्टर समेत कई दिग्गजों का इम्तिहान

आठ राज्यों की 58 लोकसभा सीटें, 11.13 करोड़ मतदाता, 1.14 लाख से अधिक मतदान केंद्र

लोकसभा चुनावः छठे चरण के लिए कल डाले जाएंगे वोट, मेनका और खट्टर समेत कई दिग्गजों का इम्तिहान

ओडिशा में 42 विधानसभा क्षेत्रों के लिए भी साथ-साथ होगा मतदान

नई दिल्ली, 24 मई (हि.स.)। लोकसभा चुनाव के छठे चरण में दिल्ली, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, ओडिशा और जम्मू-कश्मीर समेत आठ राज्यों और केंद्र शासित प्रदेश की 58 संसदीय सीटों पर शनिवार (25 मई) को मतदान होगा। चुनाव आयोग कल होने वाले मतदान के लिए पूरी तरह से तैयार है। इस चरण में कुल 889 उम्मीदवार मैदान में हैं। ओडिशा विधानसभा की 42 सीटों पर भी साथ-साथ मतदान होगा।

चुनाव आयोग के अनुसार, 58 संसदीय सीटों में 49 सामान्य, 2 एसटी और 7 एससी वर्ग के लिए आरक्षित हैं। राज्यवार उम्मीदवारों की बात करें तो इस चरण में बिहार की 8 सीटों के लिए 86, हरियाणा की 10 के लिए 223, जम्मू-कश्मीर की एक के लिए 20, झारखंड की चार सीटों के लिए 93, दिल्ली की 7 सीटों के लिए 162, ओडिशा की 6 सीटों के लिए 64, उत्तर प्रदेश की 14 सीटों के लिए 162 और पश्चिम बंगाल की 8 सीटों के लिए 69 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। उधर, ओडिशा विधानसभा की 42 विधानसभा सीटों में 31 सामान्य, 5 एसटी और 6 एससी वर्ग के लिए आरक्षित हैं।

आयोग के अनुसार इस चरण में लगभग 11.4 लाख मतदान अधिकारी 1.14 लाख मतदान केंद्रों पर 11.13 करोड़ से अधिक मतदाताओं का स्वागत करेंगे। कुल 11.13 करोड़ से अधिक मतदाताओं में 5.84 करोड़ पुरुष, 5.29 करोड़ महिलाएं और 5120 थर्ड जेंडर मतदाता हैं।

छठे चरण के लिए 8.93 लाख से अधिक पंजीकृत 85 वर्ष से अधिक आयु के मतदाता, 100 वर्ष से अधिक आयु के 23,659 मतदाता और 9.58 लाख दिव्यांग मतदाता हैं, जिन्हें अपने घर से ही मतदान करने का विकल्प दिया गया है। वैकल्पिक होम वोटिंग सुविधा को पहले से ही जबरदस्त प्रशंसा और प्रतिक्रिया मिल रही है।

सुरक्षाकर्मियों को आने-जाने के लिए 20 विशेष रेलगाड़ियां तैनात की गई हैं। 184 पर्यवेक्षक (66 सामान्य पर्यवेक्षक, 35 पुलिस पर्यवेक्षक, 83 व्यय पर्यवेक्षक) मतदान से कुछ दिन पहले ही अपने-अपने निर्वाचन क्षेत्रों में पहुंच चुके हैं। वे आयोग की आंख और कान के रूप में कार्य कर रहे हैं ताकि अधिक से अधिक सतर्कता बरती जा सके। इसके अतिरिक्त, कुछ राज्यों में विशेष पर्यवेक्षकों को भी तैनात किया गया है।

मतदाताओं को दिए जाने वाले किसी भी प्रकार के प्रलोभन से सख्ती और तेजी से निपटने के लिए कुल 2222 उड़न दस्ते, 2295 स्थैतिक निगरानी दल, 819 वीडियो निगरानी दल और 569 वीडियो अवलोकन दल चौबीसों घंटे निगरानी कर रहे हैं।

कुल 257 अंतरराष्ट्रीय सीमा चौकियां और 927 अंतर-राज्यीय सीमा चौकियां शराब, ड्रग्स, नकद राशि और मुफ्त उपहारों के किसी भी अवैध प्रवाह पर कड़ी निगरानी रख रही हैं। इसके साथ-साथ समुद्री और हवाई मार्गों पर कड़ी निगरानी रखी गई है।

पानी, शेड, शौचालय, रैम्प, स्वयंसेवक, व्हीलचेयर और बिजली जैसी सुनिश्चित और न्यूनतम सुविधाएं उपलब्ध कराई गई हैं, ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि बुजुर्गों और विकलांग व्यक्तियों सहित प्रत्येक मतदाता बड़ी आसानी से अपना वोट डाल सके।

छठे चरण में दिल्ली की सभी सात सीटों- चांदनी चौक, उत्तर पूर्वी दिल्ली, पूर्वी दिल्ली, नई दिल्ली, उत्तर पश्चिम दिल्ली, पश्चिमी दिल्ली एवं दक्षिणी दिल्ली, हरियाणा की सभी 10 सीटों- अंबाला, कुरुक्षेत्र, सिरसा, हिसार, करनाल, सोनीपत, रोहतक, भिवानी-महेंद्रगढ़, गुड़गांव और फ़रीदाबाद, उत्तर प्रदेश की 14 सीटों- सुल्तानपुर, प्रतापगढ़, फूलपुर, इलाहाबाद, अम्बेडकर नगर, श्रावस्ती, डुमरियागंज, बस्ती, संतकबीर नगर, लालगंज, आज़मगढ़, जौनपुर, मछलीशहर और भदोही, पश्चिम बंगाल की आठ सीटों- तमलुक, कांथी, घाटल, झाड़ग्राम, मेदिनीपुर, पुरुलिया, बांकुरा और बिष्णुपुर, झारखंड की चार सीटों गिरिडीह, धनबाद, रांची और जमशेदपुर, बिहार की आठ सीटों वाल्मीकी नगर, पश्चिम चंपारण, पूर्वी चंपारण, शिवहर, वैशाली, गोपालगंज (एससी), सीवान एवं महाराजगंज, जम्मू-कश्मीर की एक सीट अनंतनाग-राजौरी और ओडिशा की छह सीटों भुवनेश्वर, पुरी, ढेंकनाल, क्योंझर (एससी), कटक और संबलपुर पर मतदान होगा।

छठे चरण में तीन पूर्व मुख्यमंत्री और तीन केंद्रीय मंत्री चुनाव मैदान में हैं। हरियाणा की रोहतक सीट से कांग्रेस की तरफ से दीपेंद्र हुड्डा एक बार फिर चुनाव लड़ रहे हैं। करनाल से पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर चुनाव लड़ रहे हैं। फरीदाबाद सीट पर भाजपा से केंद्रीय मंत्री कृष्ण पाल सिंह गुर्जर चुनाव मैदान में हैं। कुरुक्षेत्र लोकसभा सीट से उद्योगपति नवीन जिंदल पहली बार भाजपा उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ रहे हैं। उनके सामने कांग्रेस-आआपा गठबंधन ने डॉ. सुशील गुप्ता को उतारा है। हरियाणा की गुड़गांव सीट से भाजपा ने केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह को फिर से उम्मीदवार बनाया है। कांग्रेस की तरफ से अभिनेता एवं पूर्व सांसद राज बब्बर चुनाव मैदान में हैं।

पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज की बेटी बांसुरी स्वराज पहली बार भाजपा की टिकट पर नई दिल्ली सीट से चुनाव मैदान में हैं। उत्तर पश्चिमी दिल्ली से भोजपुरी गायक एवं अभिनेता मनोज तिवारी तीसरी बार चुनाव मैदान में हैं।

बिहार की पूर्वी चंपारण लोकसभा सीट से पूर्व केंद्रीय मंत्री राधा मोहन सिंह चुनाव लड़ रहे हैं। बिहार की सिवान लोकसभा सीट पर बाहुबली शहाबुद्दीन की पत्नी हिना शहाब निर्दलीय चुनाव मैदान में उतरीं हैं। डुमरियागंज से भाजपा उम्मीदवार के तौर पर जगदंबिका पाल पांचवीं बार चुनाव मैदान में हैं।

पश्चिम बंगाल की कांथी सीट पर भाजपा ने शुभेंदु अधिकारी के भाई सौमेंदु अधिकारी को चुनाव मैदान में उतारा है। झारखंड की रांची सीट पर कांग्रेस और भाजपा के बीच कड़ा मुकाबला है। यहां पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय की बेटी यशस्विनी सहाय का मुकाबला भाजपा के संजय सेठ से है। ओडिशा की संबलपुर सीट से केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान चुनाव लड़ रहे हैं। पुरी से भाजपा नेता संबित पात्रा चुनाव मैदान में हैं।

जम्मू-कश्मीर की अनंतनाग-राजौरी सीट पर पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की प्रमुख महबूबा मुफ्ती चुनाव मैदान में हैं। उत्तर प्रदेश की आजमगढ़ लोकसभा सीट से भोजपुरी सुपर स्टार दिनेश लाल यादव निरहुआ भाजपा उम्मीदवार के तौर पर चुनाव मैदान में हैं जबकि सपा से अखिलेश यादव के चचेरे भाई धर्मेंद्र यादव चुनाव लड़ रहे हैं। आठ बार की सांसद रहीं मेनका गांधी लगातार दूसरी बार सुलतानपुर लोकसभा से भाजपा के टिकट पर चुनाव मैदान में हैं।

Tags: New Delhi