अजीबोगरीब परंपरा : यहां सुहागरात में दूल्हा-दुल्हन के साथ सोती है दुल्हन की माँ

प्रतिकात्मक तस्वीर

अफ्रीका महाद्वीप में मनाई जाती है ये अजीबोगरीब परंपरा, अगले दिन दुल्हन की माँ देती है गवाही

हर इन्सान के जीवन में कुछ दिन बहुत अहम होते हैं। इनमें शादी और शादी से जुड़े कुछ दिन है, जैसे कि सुहागरात! इस दिन के लिए लोग तरह तरह की तैयारियां करते है। दुनिया में सुहागरात को लेकर अलग-अलग मान्यताएं हैं। लेकिन अब हम आपको जो बताने जा रहे हैं, उसे सबसे अजीब परंपरा कहा जा सकता है। क्योंकि इस शादी की पहली रात को दूल्हा-दुल्हन लड़की या युवक की मां के साथ ही सोते हैं। वजह जानकर आप हैरान रह जाएंगे।


अफ्रीका महाद्वीप अपने आप में एक अलग दुनिया है। वन्य जीवन हो या यहां का आदिवासी जीवन, सब कुछ अलग, अनोखा और अद्भुत है। आज भी यहां कई अजीबोगरीब रीति-रिवाज और अजीबोगरीब मान्यताएं प्रचलन में हैं, जिनके बारे में लोगों को बहुत कम जानकारी है। खासकर जब शादी की बात आती है तो शादी में एक अजीब सी मान्यता होती है, जो हर किसी को परेशान करती है।

सुहागरात में साथ रहता है मेंटर


समय के साथ जहां परंपराएं बदल रही हैं, वहीं दूसरी ओर यहां के लोग आज भी सदियों पुरानी परंपराओं को जी रहे हैं। कई जनजातियाँ जीवन के प्रत्येक चरण में विभिन्न नियमों का पालन करती हैं। ऐसा ही एक नियम सुहागरात के साथ भी है। यहां सुहागरात के दौरान दुल्हन की मां दूल्हा-दुल्हन के साथ सोती है।

मेंटर देरी है दंपत्ति को सुखी वैवाहिक जीवन जीने का मंत्र


एक रिपोर्ट के मुताबिक,सुहागरात पर दामाद की सासू मां कमरे में साथ रहती और सोती है। अगर वो नहीं होती है तो इस स्थिति में परिवार या आस-पड़ोस की किसी अन्य बुजुर्ग महिला को वहां पर जरूर भेजा जाता है। दरअसल ऐसा होने की मान्यता ये है कि पहली रात को मां या फिर बुजुर्ग महिला कपल को खुशहाल वैवाहिक जीवन की सीख देती है। यही मेंटर यानी मां दुल्हन को यह बताती है कि उसे रात में क्या करना है। अगली सुबह दूल्हा-दुल्हन के कमरे में मौजूद महिला ने परिवार के बाकी लोगों से पुष्टि की कि रात में सब ठीक हो गया। इस गुरु की उपस्थिति यहां शर्म से नहीं, बल्कि परंपरा से जुड़ी हुई दिखाई देती है। जिसका पालन आज भी किया जा रहा है। इस प्रकार यह माना जाता है कि नवविवाहितों ने अपने विवाहित जीवन की अच्छी शुरुआत की है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें