वडोदरा : गरबा प्रेमियों के बीच ऑक्सोडाइज ज्वैलरी की मांग बढ़ी, जाने क्या है कीमत

प्रतिकारात्मक तस्वीर

इस साल व्यापारियों और खेलैयाओं में खासा उत्साह

 नवरात्रि में अब गिनती के दिन बाकी हैं, बाजार में गरबा प्रेमियों की भारी भीड़ देखने को मिली है। गरबा प्रेमी चनियाचोली खरीद चुके हैं, लेकिन शरीर को सजाने के लिए तरह-तरह के आभूषण बाजार में आ गए हैं। आभूषण खरीदने के लिए गरबा के दीवानों की भीड़ उमड़ पड़ी है।कोरोना काल के दो साल के अंतराल में व्यापारियों की कमाई नहीं थी और गरबा प्रेमियों ने कुछ खास खरीदी भी नहीं की, जिससे इस साल व्यापारियों और खेलैयाओं में खासा उत्साह है। 

इस साल उत्साह के साथ गरबा खेलेंगे


नवापुरा के व्यवसायी आरिफ भाई ने बताया कि इस साल झुमका, ज्वैलरी, चोकोर, बाजूबंद, टिक्का, कमरबंद आदि में वैरायटी है। ताकि खेलैया जमकर खरीदारी कर सकें और नवरात्रि का आनंद उठा सकें। पीतल और जर्मन चांदी की किस्मों के साथ आभूषणों की कीमत 100 से 500 तक है।
ये सभी आभूषण विशेष रूप से अहमदाबाद, मुंबई, सूरत, जयपुर, दिल्ली में घरेलू उद्योगों से मंगवाए जाते हैं। जिसमें खिलाड़ियों को 50 रुपये से लेकर 500 रुपये तक का कलेक्शन देखने को मिलेगा। खैलैया ने यह भी कहा कि हमें बहुत खुशी है कि हम इस साल नवरात्रि की खरीदारी के लिए निकले हैं। इस साल हम उत्साह के साथ गरबा खेलेंगे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें