यातायात : जल्द ही ‘फास्ट टैग’ भी हो जायेगा बेकार, टोल प्लाजा पर लग रही लंबी कतारों को कम करने के सरकार ला रही हैं ये विशेष सिस्टम

उच्च सदन में प्रश्नकाल के दौरान एक सवाल के जवाब देते हुए परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने दी जानकारी

देश भर के टोल प्लाजा पर लंबी कतारों को खत्म करने के लिए सरकार नई तकनीक पेश करेगी। परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने राज्यसभा में कहा कि यह नई व्यवस्था अगले छह महीने में लागू हो जाएगी। इसके साथ ही उन्हें अपने देश में एक्सप्रेस वे का पुरस्कार विजेता माना। उच्च सदन में प्रश्नकाल के दौरान एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि टोल प्लाजा के कारण लंबी कतारें और ट्रैफिक जाम जैसी समस्याएं पैदा हुई और यह जल्द खत्म हो जाएगी।
उन्होंने कहा कि सरकार फिलहाल दो विकल्पों पर विचार कर रही है। एक सैटेलाइट आधारित टोल सिस्टम है जहां कार में जीपीएस होगा और राशि सीधे यात्री के बैंक खाते से कट जाएगी और दूसरा विकल्प नंबर प्लेट है। उन्होंने कहा कि हम अब फास्टैग की जगह जीपीएस का इस्तेमाल करने की प्रक्रिया में हैं, इसके लिए सैटेलाइट का इस्तेमाल किया जाएगा। इसके अलावा नंबर प्लेट तकनीक भी उपलब्ध है और यह भारत में उपलब्ध सर्वोत्तम तकनीक है। 
परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने राज्यसभा में कहा कि हम इनमें से किसी भी तकनीक को चुनेंगे। हमने अभी तक तकनीक को नहीं चुना है। मेरी राय में नंबर प्लेट तकनीक अधिक उपयुक्त है। इससे टोल प्लाजा नहीं चलेगा। यह एक परिष्कृत कम्प्यूटरीकृत डिजिटल प्रणाली है, जो हमें राहत देगी। इससे लोगों की कतार नहीं लगेगी और लोगों को भी राहत मिलेगी। उन्होंने कहा कि हमें इसके लिए संसद में एक बिल लाना होगा, क्योंकि टोल नहीं देने पर क्या करें, इस पर फिलहाल कोई कानून नहीं है। उन्होंने कहा कि अगले छह महीने में हम एक्सप्रेस हाईवे पर टोल प्लाजा के लिए बेहतरीन तकनीक का इस्तेमाल करेंगे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें