उजाले में हीरे चेक करने के बहाने हीरे लेकर गायब हुआ ठग, नवसारी के व्यापारी के साथ हुई लाखों की धोखाधड़ी

प्रतिकात्मक तस्वीर

हीरे चेक करने के बहाने पर्दे के पीछे गए और फिर नहीं आए वापिस

नवसारी में एक हीरा व्यापारी ने हीरा दलाल के साथ मिलकर अन्य व्यापारी के 28.34 लाख के हीरे लेकर फरार हो गए होने की घटना सामने आई है। घटना की शिकायत नवसारी टाउन पुलिस स्टेशन में दर्ज की गई है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, मूल बनासकाँठा के रहने वाले और धानेरा तहसील के वालेर गाँव में रहने निवासी और फिलहाल नवसारी में रहने वाले भूराभाई कानाभाई देसाई हीरे का कारखाना चलाते है। कुछ दिनों पहले भूराभाई के करीबी रिश्तेदार महेंद्रभाई ने फोन करके बताया कि एक व्यक्ति को कैश देकर हीरे खरीदने है और इसलिए उन्होंने उनका नंबर उसे दे दिया है। 
पिछली 9 तारीख को आतिशभाई ने फोन कर के भूराभाई को फोन कर के हीरे दिखाने के लिए कहा था। पर भूराभाई ने बताया कि अभी उनके पास तैयार हीरे नहीं है। जब तैयार हो जाएँगे तो वह उन्हें बता देंगे। दूसरे दिन भूराभाई ब्रोकर आतिशभाई और हीरा व्यापारी निखिलभाई पटेल को मिलने गए थे। यहाँ आतिशभाई ने बताया कि निखिल भाई को 70 से 75 लाख के हीरे खरीदने है। इसके चलते 10 तारीख को भूराभाई 12.52 लाख के 50.08 केरेट के पोलिश्ड हीरे, 6.89 लाख के 21.56 केरेट के तथा 8.92 लाख के 27.88 केरेट के इस तीन पेकेट मिलाकर कुल मिलाकर 28.34 लाख के पोलिश्ड़ हीरे लेकर आतिशभाई के ऑफिस पर आए थे। जब निखिलभाइने हीरे देखने के लिए मांगे तो उन्होंने हीरे देखने के लिए दिये।
इस पर निखिल भाई ने हीरे सही से दिख नहीं रहे है तो वह उजाले में जाकर हीरे चेक कर के आते है, ऐसा कहकर वह ऑफिस में लगे पर्दे के पीछे गए। हालांकि काफी समय तक वापिस ना आने पर भूराभाई ने पर्दा हटाकर देखा तो पता चला कि निखिलभाई पीछे के दरवाजे से निकल गए है। इस पर आतिशभाई ने बताया कि निखिलभाई उनके आदमी को लेकर बाहर गए होंगे। हालांकि काफी समय बीत जाने के बाद भी जब वह वापिस नहीं आए तो भूराभाई ने पुलिस स्टेशन में केस दर्ज करवाया था।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें