किशोर को स्कूल नहीं जाना था इसलिए मां-बाप और बहन को मौत के घाट उतार दिया!

(Photo Credit : livehindustan.com)

मेथ्स के टीचर से नाराज था किशोर, मारने के बाद बुरी तरह से कुचला पिता का चहरा

रशिया के एक शहर से एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई हैं। जहां एक 17 वर्षीय बालक ने अपने माता-पिता और बहन कि मात्र इसलिए हत्या कर दी, क्योंकि वह उसे स्कूल जाने के लिए कह रहे थे और वह स्कूल नहीं जाना चाहता था। इसी कारण से किशोर ने कुल्हाड़ी कि मदद से तीनों को मौत के घाट उतार दिया। तीनों को मौत के घाट उतारने के बाद किशोर वहाँ से भाग गया था। 
पिता को चहेरे को बुरी तरह कुचला
पुलिस ने बताया कि किशोर ने पिता कि हत्या करने के बाद उसके पिता के मृत शरीर को बुरी तरह से कुचल दिया था और खुद के कपड़े पहना दिये। जिससे पुलिस को लगे कि बॉडी खुद किशोर कि हैं और सारा शक उसके पिता पर जाए। जांच कि शुरुआत में पुलिस को भी लगा कि सबकी हत्या पिता ने ही की है। इसके बाद पुलिस ने किशोर के पिता को ढूँढना शुरू कर दिया। हालांकि इसके बाद फोरेंसिक एक्स्पर्ट्स ने जब डेड बॉडी को अच्छी तरह देखा तो पता चला की डेड बॉडी तो असलियत में पिता की हैं। 
रशिया की इंवेस्टिगेशन कमिटी ने बताया की चहेरे के बुरी तरह से कुचल दिया था। पुलिस ने क्राइम सीन से 362 किलोमीटर दूर से बालक वदिम गोरबुनोव को पकड़ा था। पुलिस अधिकारियों को किशोर की माता गुल्या गोरबुनोव और 12 वर्षीय बहन यूलिया का शव भी घर में ही मिला था। पूछताछ के दौरान वदीम ने अपना गुनाह कबुल कर लिया था। उसने बताया कि वह स्कूल नहीं जाना चाहता था, पर उसकी माता उसे जबरन स्कूल भेजना चाहती थी। जिसके चलते उसकी काफी लड़ाई हुई।
मेथ्स विषय नहीं आता था पसंद
डेली मेल कि रिपोर्ट के अनुसार, वदीम मेथ्स टीचिंग से काफी नाराज था और वह कई क्लास भी छोड़ चुका था। सबसे पहले वदीम ने अपनी माता को मौत के घाट उतारा, जिसके बाद उसने पिता के आने पर अपने पिता पर कुल्हाड़ी से हमला कर दिया। अंत में वदीम ने अपनी बहन यूलिया को भी मार दिया था। पड़ोसियों का कहना हैं कि वदीम का परिवार काफी हेल्पींग नेचर का था और वदीम खुद भी अपनी बहन को काफी ज्यादा प्यार करता था। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें