एयरफोर्स की ताकत में हुआ और भी इजाफा, शामिल किए गए 24 मिराज 2000

भारतीय वायुसेना द्वारा किए गए 27 मिलियन यूरो के करार पर हस्ताक्षर

भारतीय वायुसेना के ताकत में और भी इजाफा होने जा रहा है, जल्द ही एयरफोर्स के विमानों की लिस्ट में 24 मिराज 2000 फाइटर जेट शामिल किए जाएंगे। यह वही विमान है जिसकी सहायता से पाकिस्तान में आतंकवादी गतिविधियां करने वाले दल का नाश किया गया था। यह विमान भारत के लिए राफेल विमान बनाने वाले दसोल्ट एविएशन द्वारा ही बनाया गया है। 
हिंदुस्तान टाइम्स के एक रिपोर्ट के अनुसार, IAF ने फाइटर जेट्स खरीदने के लिए तकरीबन 27 मिलियन यूरो के करार पर हस्ताक्षर किए है। इन 24 में से फिलहाल 8 विमान उड़ने की स्थिति में है। हर एक विमान की कीमत 1.125 मिलियन यूरो यानि की 9.73 करोड़ रुपए है। 
IAF द्वारा 35 साल पुराने एयरक्राफ्ट मिराज द्वारा 2019 में बलकोट ऑपरेशन पार किया गया था। उसी विमान को अपडेट कर के भारतीय वायु सेना में शामिल किया जा रहा है। इन विमानों को अपडेट करने के लिए 300 जटिल स्पेरपार्ट्स की जरूरत है। भारत द्वारा खरीदे जा रहे फाइटर जेट्स में से 13 जेट्स के इंजिन और एयरफ्रेम्स अच्छी स्थिति में है। इसका इस्तेमाल भारतीय वायुसेना के फाइटर जेट के दो स्क्वोड्रन द्वारा किया जाएगा। 
मिराज-2000 हवा में 2336 किलोमीटर प्रति घंटा की तेजी से उड़ सकता है। डबल इंजिन वाला यह विमान 13800 किलो विस्फोटक लेकर जा सकता है। चौथे जनरेशन के इस विमान ने कार्गिल युद्ध में भी काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। दो इंजिन के कारण विमान के क्रेश होने की संभावना काफी कम हो जाती है। यह विमान हवा में ही दुश्मन को खतम कर देने की क्षमता रखता है। इसके अलावा यह भारी बमबारी और मिसाइल हमले भी कर सकता है। विमान में 30 एमएम रिवॉल्वर तोप भी है जो एक मिनट में 1800 गोलियां चला सकती है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें