एक साथ जीने-मरने की कसम को पूरा करते हुए एक ही चिता पर ब्रह्मलीन हुए पति-पत्नी!

(Photo Credit : apnugujarat.in)

मध्यप्रदेश के सीधी जिले के रामपुर नैकिन मे भीषण बस हादसे में हुई नवदम्पति की मौत से गाँवभर में शोक

मध्यप्रदेश के सीधी जिले के रामपुर नैकिन मे मंगलवार को हुए भीषण बस हादसे ने दिल दहला कर रखा हैं। इस हादसे में अब तक 51 लोगों की मौत हो चुकी है। इसी हादसे में कुशमी तहसील के गैवटा पंचायत के देवरी निवासी अजय पनिका उर्फ़ राहुल और उनकी पत्नी तपस्या की भी मौत हो गई। अपनी पत्नी को एएनएम की परीक्षा दिलाने सतना जा रहे राहुल को कतई खबर न थी कि ये उनके जीवन की अंतिम यात्रा होगी। इन दोनों की 8 महीने पहले ही 28 जून 2020 को शादी हुई थी। ऐसे में इस जोड़े ने साथ जीने-मरने के वचन को निभाते हुए एक साथ इस दुनिया से अलविदा हुए। घर से दोनों की एक साथ अर्थी निकली और एक ही चिता पर दोनों को मुखाग्नि दी गई। इस हादसे से पूरे गांव में मातम का माहौल हो गया।
जानकारी के अनुसार 25 साल के राहुल अपनी पत्नी की पढ़ाई को लेकर बेहद गंभीर थे और उसे बीएड का कोर्स भी करा रहे थे। इस दुर्घटना के दिन दोनों एएनएम की परीक्षा देने के लिए सतना जा रहे थे। दुर्घटना की जानकारी मिलते ही परिजन घटना स्थल पर पहुंचे। इनके परिजन दोनों शव लेकर देर रात 10 बजे देवरी पहुंचे। 
राहुल के परिवार में अब एक भाई और एक बहन हैं। बुधवार को दोनों का अंतिम संस्कार किया गया जिसमें गुजरात में रहने वाले राहुल के पिता रामप्रसाद पनिका शामिल नहीं हो पाए। वहीं बेटी की मौत से सदमे के बाद तपस्या के पिता ने कहा कि हमने 8 माह पहले ही बेटी की शादी की थी। हम अपनी बच्ची को पढ़ा-लिखा कर कुछ बनाना चाहते थे लेकिन अब वह सपना टूट गया। हमारे सारे अरमान अधूरे रह गए।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें