काबुल में हाइजेक हुआ विमान, यूक्रेन से रेस्क्यू मिशन पर आया था

(Photo Credit : sandesh.com)

सैनिकों की वापसी के लिए सैनिकों को नहीं मिलेगा कोई भी अधिक समय, भुगतने पड़ेंगे गंभीर परिणाम

अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में यूक्रेन का एक विमान कुछ अंजान लोगों ने हाइजेक कर लिया था। यूक्रेन के डेप्युटी विदेश मंत्री ने दावा किया की तालिबान के संकट के बीच अफगानिस्तान में इसके एक विमान का अपहरण कर लिया गया है। यह विमान यूक्रेन के नागरिकों को काबुल में से बाहर लाने के लीये आया था। डेप्युटी विदेश मंत्री ने कहा कि विमान को ईरान ले जाया गया है, हालांकि अभी तक यह नहीं पता चला है कि विमान को किस ने हाइजेक किया है।
हालांकि यूक्रेन के दावे के बाद ईरान के मंत्री अब्बास असलानी ने दावा किया है कि विमान नॉर्थ ईस्ट ईरान के मशहाद एयरपोर्ट पर आया था। हालांकि रिफ़्यूलिंग के बाद यह यूक्रेन के लिए रवाना हुआ था और इसके बाद कीव एयरपोर्ट पर लैंड भी हुआ था। कहा जा रहा है कि विमान को पिछले सप्ताह काबुल भेजा गया था। कुछ अज्ञात लोग विमान को ईरान लेकर गया था। इसके पहले तालिबान ने यह धमकी भी दी थी कि यदि 31 अगस्त तक सैनिक वापसी का काम नहीं कर पाते तो तो इसके गंभीर परिणाम अमेरिका को भुगतने पड़ेंगे। 
तालिबान के प्रवक्ता सुहेल शाहीन ने कहा कि अमेरिकन राष्ट्रपति ने पहले ही क़ह दिया था कि 31 अगस्त तक सैनिकों की वापसी का काम पूर्ण हो जाएगा। उन्हें अपनी बात पर टीके रहना ही सही होगा। यदि 31 अगस्त के बाद एक भी दिन का समय मांगा गया तो उसका जवाब 'ना' होगा और सभी को इसके गंभीर परिणाम भुगतने पड़ेंगे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें