कलेक्टर ने पहले दिखाई हेकड़ी, वीडियो वायरल हुआ तो गलती के लिए माफ़ी मांगी

(Photo Credit : twitter.com)

सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद मांगी माफी, सीएम ने किया निलंबित

देश भर में कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने अपना कोहराम मचा रखा है। कई राज्यों ने कोरोना के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए लोकडाउन का सहारा लिया है। राज्यों द्वारा लोकडाउन का भंग करने वाले लोगों को कड़ी से कड़ी सजा करने का निर्देश भी दिया गया है। ऐसे में आजकल सोशल मीडिया पर एक वीडियो काफी वायरल हो रहा है। जिसमें एक कलेक्टर लोकडाउन के समय बाहर निकले एक युवक की पिटाई करते हुये दिखाई दे रहे है। वीडियो में दिखाई दे रहा है की कलेक्टर किस तरह बाहर निकले युवक की पिटाई कर रहे है और साथ में युवक का मोबाइल पटककर तोड़ते दिखाई दे रहे है। 
वीडियो में दिखाई दे रहे कलेक्टर छतीसगढ़ के सूरजपुर जिले के रणबीर शर्मा है। लोकडाउन का पालन करवाने के लिए कलेक्टर खुद शनिवार यानि की 22 मई को मैदान में उतरे थे। हालांकि लोगों को लोकडाउन का पालन करवाने के बीच वह खुद इंसानियत का पाठ भूल गए। इस दौरान वह महिलाओं के साथ बदतमीजी करते भी नजर आए। इस दौरान अपने पिता की दवाई लेने के लिए बाहर निकले एक नाबालिग लड़के की उन्होंने पिटाई शुरू कर दी। युवक ने उनको दवाई की पर्ची भी दिखाई थी। 
कलेक्टर ने सबसे पहले तो युवक का फोन जमीन पर पटक कर तोड़ दिया और फिर उसकी पिटाई शुरू कर दी। रणबीर शर्मा इतने तेवर में थे कि खुद पिटाई करने के बाद उन्होंने पुलिस को भी नाबालिग युवक की पिटाई करने का आदेश दिया। इस घटना का पूरा वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था। स्थानीय लोगों में उनके इस व्यवहार से काफी आक्रोश है। हालांकि कुछ समय बाद कलेक्टर रणवीर शर्मा ने एक वीडियो शेयर कर इस पूरे मामले पर सफाई देते हुये माफी भी मांगी। कलेक्टर ने कहा की युवक बाहर घूमने के लिए कई बहाने बना रहा था। जिसके चलते उन्होंने उसे थप्पड़ जड़ दिया था। हालांकि उन्हें इस बारे में काफी पछतावा हो रहा है। 
बता दे की कलेक्टर के इस बर्ताव के कारण सीएम बघेल ने तत्काल प्रभाव से उन्हें हटाने के निर्देश दे दिये है। जिसकी जानकारी उन्होंने ट्विटर के जरिये दी। सीएम ने कहा की इस तरह की घटना कतई सहन नहीं की जाएगी। इसके अलावा अन्य कई लोगों ने भी इस बारे में अपनी प्रतिक्रिया दी है। जिसमें केन्द्रीय राज्य मंत्री रेणुका सिंह ने भी सीएम से उन्हें तत्काल निलंबित करने की सूचना दी थी। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें