बुजुर्गों को बुस्टर डोज का खाका तैयार, जान लें क्या है प्रक्रिया

प्रतिकात्मक तस्वीर (Photo Credit : pixabay.com / IANS)

देश में कोरोना की तीसरी लहर शुरु हो चुकी है। साथ ही किशोर वय के नागरिकों के लिये टीकाकरण का अभियान भी चल रहा है। अब 10 जनवरी से हेल्थकेयर वर्करों और फ्रंटलाइन वर्करों के उपरांत 60 वर्ष से अधिक आयु के नागरिकों को प्रिकोशन डोज या यूं कह लीजिये बुस्टर डोज लगने शुरु होने वाले हैं। 
इस तीसरे डोज के लगने की प्रक्रिया क्या होगी इस बारे में स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने कुछ जानकारी साझा की है। इस चरण से संबंधित सबसे महत्वपूर्ण हकीकत यह है कि नागरिकों को तीसरे टीके के लिये नये सिरे से पंजीकरण कराने की जरूरत नहीं है। तीसरा टीका लेने के लिये संबंधित लोग सीधे टीकाकरण केंद्र पर पहुंच सकते हैं और टीका लगवा सकते हैं। ऑनलाइन एपोइंटमेंट की भी सुविधा रहेगी। 
सबसे अहम बात यह है कि नागरिकों ने पहले दो डोज जिस कंपनी के लगाये हैं, वही तीसरा डोज लगवाना होगा। यानि किसी ने कोवैक्सीन के पहले दो डोज लगवाये हैं तो तीसरा डोज को‌वैक्सी का और जिसने पहले दो डोज कोविशिल्ड के लगाये हैं उन्हें तीसरा डोज भी कोविशिल्ड का ही लगाना होगा। साथ बुस्टर डोज टीके की मात्रा पहले लिये गये डोज की मात्रा के बराबर ही होगी।
ऐसे में 60 से अधिक आयु वर्ग के सभी नागरिक इस अवसर का लाभ उठायें और बुस्टर डोज 10 जनवरी के बाद अवश्य लगवाएं। कोरोना की तीसरी लहर बड़ी तेजी से बढ़ रही है, लेकिन पाया गया है कि इसका असर पहले की तुलना में कम है। बीमारी गंभीर न होने का एक कारण सफल टीकाकरण भी है। ऐेसे में आईये, सब साथ मिलकर सरकार के प्रयासों का समर्थन करें और दिये जा रहे आदेशों का पालन करें।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें