जल्द बदलेगी हाइवे की सूरत, पेट्रोल पंप की जगह दिखाई देंगे चार्जिंग स्टेशन

प्रतिकात्मक तस्वीर

NHAI ने हाइवे पर इवी चार्जिंग स्टेशन बनाने का लिया फैसला, पूरे देश में 650 स्थान किए गए पसंद

पिछले कई समय से दुनिया भर में इलेक्ट्रिक गाड़ियों क्या चलन काफी बढ़ गया है। दुनिया के कई देश अब पेट्रोल डीजल की गाड़ियों को छोड़ कर अब इलेक्ट्रिक व्हीकल का रुख कर रहे है। भारत भी उन्ही देशों में से एक है। जिसके लिए सरकार द्वारा तैयारियां शुरू कर दी गई है। इलेक्ट्रिक व्हीकल से उपयोग के चलते सबसे बड़ी दिक्कत उसके चार्जिंग को लेकर हो सकती है। जिसके लिए NHAI द्वारा इवी चार्जिंग स्टेशन बनाने की योजना बनाई जा रही है।
इस योजना से आने वाले समय में इलेक्ट्रिक गाड़ियों के इस्तेमाल को बूस्टर मिलेगा। इसके अलावा NHAI द्वारा हाइवे को विकसित करने के लिए 22 राज्यों में लगभग 650 स्थानों को चिन्हित किया है। योजना के तहत दिल्ली मुंबई एक्सप्रेस वे पर 94 साइट को पसंद किया गया है। इसके अलावा निर्माणाधीन हाइवे पर 376 और पहले से बने हुए अन्य हाइवे पर 180 जितने स्थानों को ईवी चार्जिंग स्टेशन बनाने के लिए चुना गया है। जिसके लिए सरकार की तरफ से काफी बड़ा रिटर्न भी मिल सकता है। 
बता दे की फिलहाल इलेक्ट्रिक कार चलाने वाले अधिकतर वाहन मालिकों को बैटरी चार्जिंग की समस्या रहती है। फिलहाल बैटरी की इस समस्या को दूर करने के लिए काफी कम चार्जिंग स्टेशन है। हाइवे पर चार्जिंग स्टेशन बढ़ने से देश में इलेक्ट्रिक वाहनों को अधिक प्रोत्साहन मिलेगा। बता दे की केंद्रीय मार्ग और परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कुछ ही समय पहले बताया था कि भारत का लक्ष्य इस दशक के अंत तक कॉमर्शियल कारों में 70 प्रतिशत, घरेलू कारों में 30 प्रतिशत, बसों में 40 और टू व्हीलर में 80 प्रतिशत गाड़ियों को इलेक्ट्रिक करने का है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें