सूरत : उमिया माता मंदिर कोरोना के कारण से 18 अप्रेल तक बंद रहेगा

(Photo Credit : templetravel.info)

पुराने अंबाजी मंदिर में सिर्फ माताजी के चेहरे का दर्शन किया जा सकेगा

माता की भक्ति के लिए उत्तम माने जाने वाले चैत्र नवरात्रि का कल से शुभारंभ हो रहा है लेकिन, इस बार माता की भक्ति पर भी कोरोना का ग्रहण लग गया है। कोरोना के कारण माता के मंदिरों में सतर्कता के साथ कई प्रतिबंध लगा दिए गए हैं। वराछा के उमिया माता मंदिर को कोरोना के कारण से 18 तारीख तक बंद करने का फैसला किया गया है। जबकि पुराने अंबाजी मंदिर में सिर्फ माताजी के चेहरे का दर्शन किया जा सकेगा। 
सूरत शहर में प्राचीन और कोटसफिल रोड पर स्थित पुराने अंबाजी मंदिर भक्तों की आस्था का केंद्र है। यहां पर हजारों भक्त दर्शन के लिए आते हैं। नवरात्रि के दिनों में तो यहां पांव रखने की भी जगह नहीं मिलती। लेकिन इस साल जिस तरह कोरोना फैल रहा है इसे देखते हुए मंदिर के मैनेजमेंट ने फुल हार सहित सामग्री लाने पर प्रतिबंध रख दिया है। साथ ही मंदिर के प्रांगण में से 20 फीट दूर से ही माता के मुख का दर्शन किया जा सकेगा। 
प्रथम दिन घट स्थापना और आठवें दिन यज्ञ जैसी धार्मिक विधी आदि तमाम धार्मिक विधियों का ऑनलाइन प्रसारण किया जाएगा। दूसरी ओर वराछा के उमिया मंदिर में भी बंद रहने के कारण भक्तों को निराशा हुई है। घट स्थापन, पूजा-पाठ, अनुष्ठान आदि पुजारी और ट्रस्टियों की उपस्थिति में किया जाएगा।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें