सूरत : छाती में दर्द की समस्या से जूझ रहे गॉर्ड ने इलाज के लिए की लूटपाट, हरियाणा में कराया उपचार

पुलिस के हत्थे चढ़ने के बाद गॉर्ड ने सारी बातें कबूली

सचिन जीआईडीसी के गोवर्धन सिल्क मिल के मालिक को चाकु के जोर पर बंधक बनाकर छह लाख रुपये नकद लूटने वाले सुरक्षा गार्ड को पकड़ने में सचिन जीआईडीसी पुलिस ने कामयाबी हासिल की है। लुटेरे गार्ड ने खुद के एक ट्यूमर के कारण सीने में दर्द को ठीक करने और उसका ऑपरेशन कराने के लिए पूरे मामले को अंजाम देने की बात कबूल की।
इस घटना की बात करें तो सचिन जीआईडीसी की गोवर्धन सिल्क मिल के मालिक प्रवीण वल्लभभाई बबरिया पिछले अप्रैल में अपना हिसाब-किताब कर रहे थे, वहीं उनके मिल के सुरक्षा गार्ड सुमित रामकुमार शर्मा ने उन्हें छुरे से बंधक बना लिया और 6 लाख रुपये नकद लूट लिए। घटना में पुलिस को लुटेरे गार्ड की बाइक तलंगपुर रोड पर  लावारिश हालात में मिली है।
 पुलिस मामले की जांच करते हुए और आरोपी की खोज करते हुए उसके मूल गांव हरियाणा में बलसर पहुंचे। जहां सेक्टर 2, महाराणा प्रताप कॉलोनी में स्थित उसके घर पर छापा मारा।  सुमित के घर से 1.93 लाख नकद और प्रवीणभाई के महत्वपूर्ण दस्तावेज जब्त किए गए। जबकि सुमित इधर-उधर भाग रहा था। पुलिस को सूचना मिली थी कि सुमित कच्छ के भुज-मुंद्रा रोड स्थित सूरी करुणाधाम संचालित अस्पताल श्रीसुपश्व जैन सेवा मंडल कलापूर्णा में सुरक्षा गार्ड के पद पर कार्यरत है। इसलिए पुलिस टीम अस्पताल के गार्ड के रूप में काम कर रहे सुमित के पास पहुंची और उसके पास से 59,000 रुपये नकद जब्त किए।  गौरतलब है कि सुमित सीने में दर्द से पीड़ित थे। इलाज के दौरान सीने में ट्यूमर होने की बात सामने आई और अगर उनका इलाज नहीं किया गया तो भविष्य में कैंसर होने की आशंका थी।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें