सूरत : मार्केट खुले, कपड़ा कारोबार शुरू होने से व्यापारियों ने ली राहत की सांस

कपड़ा तथा हीरा बाज़ारों में खुली दुकानें, कोरोना गाइडलाइन का पालन ना करने वाले व्यापारियों को कड़ी सजा की चेतावनी

कोरोना के मामलों में गिरावट के साथ, राज्य सरकार ने अधिकांश व्यवसायों और दुकानों को सुबह 9 बजे से दोपहर 3 बजे तक व्यापार शुरू करने की अनुमति देने का निर्णय लिया है। सरकार की ओर से दी गई इस छूट से छोटे, मझोले और खुदरा विक्रेताओं का कारोबार फिर से शुरू हो जाएगा। साथ ही उपभोक्ताओं को भी मनचाही खरीदी करने का मौका मिलेगा। सरकार के इस निर्णय के बाद से ही सूरत के व्यापारियों में काफी खुशी देखने मिली है। व्यापारियों ने निर्णय के तुरंत बाद से ही फिर से काम शुरू करने के लिए दौड़-धूप शुरू कर दी है। 
सूरत की बात करे तो वराछा क्षेत्र में बड़ी संख्या में लोग काम पर जाते देखे गए। नजारा तो ऐसा था मानो कोई बाइक रैली निकली हो। आंशिक लॉकडाउन के चलते सूरत का हीरा बाजार बंद रहा था, पर रियायत मिलने से हीरा दलाल भी खुश हैं। हालांकि हीरा दलालों ने सूरत में आंशिक लॉकडाउन के समय में बदलाव की मांग की है। हीरा बाजार सुबह 11 बजे खुलता है और सुबह 9 बजे तक कोई आता भी नहीं है। ऐसे में हीरा दलाल रियात का समय सुबह 11 से शाम के 5 का रखने की मांग कर रहे हैं।

फिलहाल राज्य सरकार ने सभी 36 शहरों में सुबह 9 बजे से दोपहर 3 बजे तक छूट देने का फैसला किया है। मुख्यमंत्री विजय रूपाणी की अध्यक्षता में हुई कोर कमेटी की बैठक में निर्णय लिया गया कि राज्य में कोरोना कर्फ्यू के तहत सभी 36 शहरों में 27 मई तक रात्रिकालीन कर्फ्यू लागू रहेगा। लेकिन व्यापार सुबह नौ बजे से दोपहर तीन बजे तक फिर से शुरू होगा। आंशिक अनलॉक के बीच व्यापारियों, दुकानदारों, उपभोक्ताओं और नागरिकों को रियायत का इस्तेमाल समझदारी से करना होगा। कहीं भी बड़ी भीड़ से बचने के लिए सावधानी बरतनी होगी। बिना मास्क पहने यात्रा करने वाले नागरिकों और व्यापार करने वाले व्यापारियों को कड़ी सजा दी जाएगी। 
इससे पहले चक्रवात की स्थिति को देखते हुए 18, 19 और 20 मई को रात के कर्फ्यू और अतिरिक्त पाबंदियों को तीन दिनों तक बनाए रखने का निर्णय लिया गया था। राज्य के 36 शहरों में जीवन की जरूरतों को छोड़कर कई व्यवसाय बंद हैं। इसलिए रात 8 बजे से सुबह 6 बजे तक रात का कर्फ्यू भी लागू है। राज्य में अब कोरोना के मामलों में कमी आ रही है, इसे देखते हुए मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने यह बड़ा फैसला लिया था। इस समय के दौरान पान के गल्ले, चाय की लारी, हेयर सालूँ, हार्डवेर की दुकान, एलेक्ट्रिकल्स की दुकान, बर्तन और कपड़े की दुकान, होलसेल मार्केट और गेरेज इत्यादि चालू रहेंगे। 
हालांकि अभी भी कुछ जगहों पर प्रतिबंध लगा हुआ है, जिसमें सभी शैक्षणिक संस्था, ट्यूशन क्लासेस, थियेटर, ऑडिटोरियम, एसेमबली हॉल, वॉटर पार्क, पब्लिक गार्डन, जिम तथा स्विमिंग पल बंद रहेंगे। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें