सूरत: मनपा ने तौकते तूफान से उखड़े 305 पेड़ों की जगह ऑक्सीजन युक्त पौधे लगाने का काम शुरू किया

मनपा उद्यान विभाग ऑक्सीजन युक्त पेड़ लगाने की तैयारी कर रहा है।

मनपा ने भीमराड एवं उत्राण-कोसाड में 12722 वर्ग मीटर में 2 ऑक्सीजन पार्क बनाए

मनपा में शामिल नए क्षेत्रों में बागों में लगाए जाएंगे ऑक्सीजन युक्त पौधे
सूरत में कोरोना वायरस की दूसरी लहर बहुत तेजी से फैली। अप्रैल में  कोरोना मरीजों की संख्या तेजी से  बढ़ती रही। 24 अप्रैल को सूरत शहर में कोरोना के 2361 मामले सामने आए। गंभीर रूप से बीमार मरीजों की संख्या बढ़ रही थी। जिसमें ऑक्सीजन की जरूरत वाले मरीज शामिल थे।  इसी समय, शहर के अस्पताल ऑक्सीजन की कमी से जूझ रहे थे। ऐसे में तौकते तूफान ने शहर में 305 पेड़ उखाड़ दिए। जिसमें कई पेड़ ऑक्सीजन दे रहे थे। सूरत नगर निगम अब इन उखड़े पेड़ों को ऑक्सीजन युक्त पौधों से बदलने की योजना बना रहा है।
मनपा ने पहले से ही शहर में दो जगहों पर ऑक्सीजन देने वाले पार्क 12722 वर्गमीटर  क्षेत्रफल में बनाया है। इस ऑक्सीजन पार्क में 12622 पेड़ ऑक्सीजन प्रदान कर रहे हैं। जो उत्राण-कोसाड व भीमराड वासियों को प्राणवायु समान ऑक्सीजन का लाभ दे रहे हैं। भविष्य में किसी भी तरह की ऑक्सीजन की समस्या उत्पन्न न हो इसके लिए  पालिका ने कुछ महीने पहले शहर की सीमा में शामिल नए इलाकों में बाग लगाने की योजना बनाई है। मनपा ने नए क्षेत्रों में बनाए जाने वाले बगीचों में ऑक्सीजन युक्त पौधे लगाने की योजना बनाई है।
पालिका की उद्यान समिति की अध्यक्षा रेशमाबेन लपसीवाला  ने बताया कि 17 से 19 मई तक शहर में आये तौकते चक्रवात के दौरान तेज हवाओं और भारी बारिश के कारण शहर के विभिन्न हिस्सों में 300 से अधिक पेड़ उखड़ गए। अब इन पेड़ों को ऑक्सीजन प्रदान करने वाले पौधों से बदलने की योजना पर काम चल रहा है। तौकते तूफान से जहां भी पेड़ उखड़ गए, वहां मनपा उद्यान विभाग ऑक्सीजन युक्त पौधे रोपेगा। पीपल, वड, फिफुला (रबर प्लांट), फिकस, एरिका पाम, क्लोरो फाइटम आदि जैसे ऑक्सीजन युक्त पौधे लगाए जाएंगे।
रेशमाबेन ने आगे कहा कि करीब ढाई साल पहले पा‌लिका ने शहर में दो जगहों उत्राण-कोसाड और भीमराड में ऑक्सीजन पार्क बनाए थे, जिसमें 12,722 वर्ग मीटर क्षेत्रफल में लगाये गये  12,622 पेड़ ऑक्सीजन देने का काम कर रहे हैं। मनपा ने कतारगाम जोन स्थित उत्राण गाम में  63 लाख 58 हजार रुपये की लागत से बने ऑक्सीजन पार्क में पीपल के 68 पेड़, वड के 33 पेड़, नीम के 227 पेड़, रबड प्लान्ट ( फिफुला) के 10 पेड, फायकस के 22 पेड़, एरिका पाम के 616 पेड़, फ्लोरो फाइटम के 2979 पेड़, हरिद्वार तुलसी के एक हजार, श्याम तुलसी के 50, राम तुलसी के 50, स्नेक प्लान्ट के 70,  मनी प्लान्ट के 60 तथा एलोबिरका के 30 सहित 4853 ऑक्सीजन देने वाले पेड़ हैं।  अठवा जोन क्षेत्र में स्थित भीमराड में 6793 वर्ग मीटर क्षेत्रफल में बनाये गये ऑक्सीजन पार्क में पिपल, वड, एरिका पाम, नीम, फ्लोरो फाइटम, श्याम तुलसी, राम तुलसी,  ड्रेसी का ट्राय कलर और स्पाइडर हरी और पीस हरी के 7768 पेड़ हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें