सूरत : शराब के नशे में झोलाछाप डॉक्टर ने दी धमकी, पुलिस ने मामला दर्ज किया

(Photo Credit : news18.com)

रात के दो बजे खोलकर बैठा था क्लीनिक, शराब के नशे में दी जान से मारने की धमकी

एक ओर, राज्य में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं। दूसरी तरफ कुछ फर्जी डॉक्टर जो कुछ पैसे कमाने के लिए लोगो के जीवन को जोखिम में डाल कर भी अपना धंधा चला रहे हैं। पुलिस ऐसे झोला छाप डॉक्टरों को पकड़ रही हैं। सूरत में एक ऐसा मामला सामने आया है। यह मामला सूरत के पांडेसरा इलाके का है। एक फर्जी डॉक्टर को रात 2 बजे अपने खुले क्लिनिक में बैठा देखा गया और जब कुछ लोग डॉक्टर के पास गए और उसकी डिग्री मांगी, तो वह गुस्सा हो गया और दारू के नशे में बकवास करने लगा। खुद को बीजेपी का सदस्य बताते हुए रोब दिखाने वाले झोलाछाप डॉक्टर को अंत में पुलिस स्टेशन जाना पड़ा।
जानकारी के अनुसार, सूरत के पांडेसरा क्षेत्र के गुजरात हाउसिंग बोर्ड में स्थित आराधना नामक एक क्लिनिक में गुजरात हाउसिंग बोर्ड में रहने वाले श्रमिक इलाज के लिए जाते थे। एक दिन रात के दो बजे भी ये क्लिनिक खुला था। क्लिनिक के अंदर, डॉक्टर एक मेज पर सिर रखकर सो रहा था। ऐसे में कुछ स्थानीय लोग क्लिनिक के अंदर गए और डॉक्टर से पूछताछ करने लगे। क्लिनिक के अंदर डॉक्टर को नशे में पाया गया। इसके बाद लोगों ने उस डॉक्टर से उसकी डिग्री मांगी। इस पर नशे की हालत में गुस्सा करते हुए डॉक्टर ने कहा, "मैं बीजेपी से हूं और सबको सबक सीखा दूंगा।"
इसके बाद इस बिना डिग्री के डॉक्टर ने लोगों को बताया कि वह 18 साल से ये क्लिनिक चला रहा था और जब लोगों ने डिग्री मांगी, तो डॉक्टर ने अनापसनाप बातें करना शुरू कर दिया और स्थानीय महिला को जान से मारने की धमकी भी दी। उन्होंने यह भी कहा कि वह अंबानगर में कार्यालय के नीचे अपना क्लिनिक चलाता हैं। इसके बाद स्थानीय लोगों ने संदिग्ध लगने पर डॉक्टर का वीडियो बना लिया और फिर पुलिस को पूरी घटना की सूचना दी। इसके बाद पुलिस घटनास्थल पर आई।
आपको बता दें कि इस पूरे मामले में, पुलिस ने शराबी डॉक्टर के खिलाफ निषेध अधिनियम के तहत अपराध दर्ज कर लिया हैं। इसके अलावा, डॉक्टर के पास डिग्री नहीं होने के बावजूद भी प्रैक्टिस करने का अपराध दर्ज करके आगे की जांच शुरू कर दी गई है। इसके अलावा, आने वाले दिनों में यह जांच की जाएगी कि इस फर्जी डॉक्टर का बीजेपी से कोई संबंध है या नहीं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें