सूरतः एम्ब्रोडरी व्यापारी ने अधिक से अधिक प्लाज्मा दान करने का लिया संकल्प

एम्ब्रोडरी व्यापारी प्लाज्मा दान करते हुए

ब्लड बैंक में 6 बार प्लाज्मा दान किया और एक प्रेरक कदम उठाया

 शहर के कतारगाम के 35 वर्षीय एम्ब्रोडरी व्यापारी विपुलभाई मावजीभाई विठानी ने पिछले जून में कोरोना से मुक्त होने के बाद न्यू सिविल के ब्लड बैंक में छह बार प्लाज्मा दान करके एक प्रेरक कदम उठाया है। वह यथा संभव लंबे समय तक प्लाज्मा दान करने के लिए दृढ़ संकल्पित हैं।
विपुलभाई बोटाद जिले के निंगला गाँव के मूल निवासी हैं और वर्तमान में कतारगाम के सिंगणपोर रोड पर माधवपार्क सोसायटी में रहते हैं। कोरोना से मुक्त होने से पहले पांच बार प्लाज्मा दान कर चुके विपुलभाई ने छठी बार न्यू सिविल में प्लाज्मा दान कर दूसरों को प्रेरित किया है। उन्होंने कहा कि "मैं कोरोना रिपोर्ट के सकारात्मक आने के बाद पिछले साल जून के पहले सप्ताह में नई सिविल अस्पताल में भर्ती हुआ था। जहां 8 दिनों तक डॉक्टरों के उम्दा  इलाज के कारण मैं कोरोना को हरा सका।
विपुलभाई ने आगे कहा, कि  जब मेरा कोरोना रिपोर्ट नकारात्मक आया तभी, मैंने संकल्प लिया  कि मैं सिविल अस्पताल के कर्मचारियों और डॉक्टरों की निश्चित रूप से मदद करूंगा जिन्होंने मुझे जब भी जरूरत पड़ी, कोरोना से बचाया।" मैंने तब डॉक्टर की सलाह पर प्लाज्मा दान करने का फैसला किया, जिसने मेरा इलाज किया और सिविल में पंजीकृत किया। मेरा एंटीबॉडी स्तर 9.78 था। अब तक छह बार प्लाज्मा दान कर चुका हूं। जिससे मैं वास्तव में आनंद आता है। मैं 15 दिनों के बाद भी प्लाज्मा दूंगा।
सिविल के ब्लड बैंक के प्रभारी डॉ. मयूर जरगे ने कहा कि कोविड से उबरने वाले मरीजों को सिविल प्रशासन द्वारा प्लाज्मा दान करने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है। दाताओं से प्लाज्मा एकत्र करते समय ICMR और NBTC दिशानिर्देशों का सख्ती से पालन किया जाता है। प्लाज्मा लेते समय डोनर का एंटीबॉडी स्क्रीनिंग टेस्ट भी किए जाते हैं। कोरोना मुक्त रोगी में एंटीबॉडी विकसित होते ही प्लाज्मा लिया जाता है।
डॉ.जरगे ने आगे कहा कि ऐसे समय में जब कोरोना संक्रमण बढ़ रहा है, नई सिविल और स्मीमेर अस्पताल में दान किए गए प्लाज्मा का उपयोग कोरोना रोगियों के इलाज के लिए किया जा रहा है। उपचार के उद्देश्य से प्लाज्मा अन्य निजी अस्पतालों को भी दिया जाता है। नई सिविल स्वास्थ्य प्रशासन के मार्गदर्शन में सिविल डॉक्टरों की एक टीम कोरोना रोगियों को प्लाज्मा दान करने के लिए प्रोत्साहित कर रही है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें