श्रेयस अय्यर : दो साल से टेस्ट क्रिकेट से दूर, छह महीने पहले चोट से ग्रसित फिर भी पहले ही मैच में जड़ा शतक

(Photo Credit :twitter.com)

भारत-न्यूज़ीलैंड के बीच चल रहे पहले टेस्ट मैच में भारत की ओर से डेब्यूटेंट श्रेयस ने जड़ शानदार शतक, डेब्यू में ऐसा करने वाले 16वें खिलाड़ी

वर्तमान में भारत और न्यूजीलैंड के बीच दो टेस्ट की सीरीज खेली जा रही है। इस सीरीज का पहला टेस्ट सीरीज  कानपुर के ग्रीन पार्क स्टेडियम में हो रहा है। इस मैच में भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। भारतीय की ओर से श्रेयस अय्यर ने न्यूजीलैंड के खिलाफ अपना टेस्ट डेब्यू कर रहे हैं और अपने पहले ही टेस्ट मैच में उन्होंने शतक जमाया है। ऐसा कारनामा करने वाले वो भारत के 16वें बल्लेबाज हैं।
सबसे बड़ी बात ये है कि श्रेयस अय्यर दो साल से प्रथम श्रेणी क्रिकेट से भी दूर है और वह लंबे समय बाद लाल गेंद से खेल रहे हैं। ऐसे में टेस्ट में मिले इस मौके को पूरी तरह से भुनाया। अपने पहले ही मैच में अय्यर ने 157 गेंदों पर अपना पहला शतक पूरा किया। वह इस मैदान पर डेब्यू टेस्ट में शतक जमाने वाले भारत के दूसरे बल्लेबाज हैं। उनसे पहले 1969 में गुणप्पा विश्वनाथ इसी मैदान पर अपने पहले टेस्ट में शतक जमाया था। विश्वनाथ ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ डेब्यू में शतक जमाया था।
इसके अलावा अय्यर न्यूज़ीलैंड के सामने डेब्यू करते हुए शतक जमाने वाले तीसरे बल्लेबाज हैं। सबसे पहले एजी कृपाल सिंह ने नवंबर 1955 में अपने डेब्यू टेस्ट में न्यूजीलैंड के खिलाफ नाबाद 100 रन बनाए थे। यह मैच हैदराबाद में खेला गया था। उनके बाद सुरिंदर अमरनाथ ने ऑकलैंड के ईडन पार्क में जनवरी 1976 में डेब्यू करते हुए शतक जमाया था।
मैच की बात करें तो आज मैच का दूसरा दिन पूरा हो गया है। मैच में पहले बल्लेबाजी करने आई भारतीय टीम की ओर से डेब्यूटेंट श्रेयस अय्यर ने 105 रनों की शानदार पारी, शुभमन गिल और रवींद्र जडेजा ने शानदार योगदान देते हुए क्रमश 52 एवं 50 रनों पारियां खेलीं। न्यूजीलैंड के लिए टिम साउदी ने पांच और काइल जेमिसन ने तीन विकेट चटकाए। वहीं दूसरे दिन के खेल की समाप्ति के बाद न्यूजीलैंड का स्कोर बिना किसी नुकसान के 129 रन है। विल यंग 75 और टॉम लैथम 50 रन बनाकर क्रीज पर डटे हुए हैं. 57 ओवरों के खेल में भारतीय गेंदबाज विकेट लेने को तरस गए। टॉम लैथम को मैदानी अंपायर ने तीन मौकों पर आउट दिया, लेकिन डीआरएस कीवी ओपनर का सहारा बनी।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें