क्या रात में सोने से पहले संगीत नहीं सुनना चाहिए? जानें क्या कहती है ये स्टडी

प्रतिकात्मक तस्वीर (Photo Credit : Pixabay.com)

अमेरिका की बेलर यूनिवर्सिटी के संशोधकों ने किया दावा, 200 से अधिक लोगों पर किया गया संशोधन

कई लोगों को रात को सोने के पहले गाना सुनना काफी पसंद होता है। हालांकि एक नए संशोधन के अनुसार जो लोग रात को सोते समय यदि अप संगीत सुनते हो तो आप को भी नींद नहीं आने की या नींद में खलेल पहुँचने की तकलीफ हो सकती है। संशोधको के अनुसार जब हम रात को गाना सुनकर सोते है तो वह गाना हमारे दिमाग में चलता रहता है। गाना बंद होने के बाद भी दिमाग़ में वह गाना चलता हो ऐसा आभास होता है। यह स्थिति हमारे डिमगा में खलेल पहुंचा सकती है। 
यह संशोधन अमेरिका की एबलर यूनिवर्सिटी के संशोधक माकील स्कूलीन की अध्यक्षता में किया गया। जिन्होंने बताया एक दिन उनके दिमाग में रात को सोते समय अचानक से एक गाना आ गया। जिसके कारण उनकी रात की नींद उड़ गई है। उन्होंने महसूस किया की एक गाना किसी की भी नींद की खलेल पहुंचा सकता है। इसी दौरान उन्होंने निर्णय लिया की वह संगीत और नींद के बीच के संबंध के बारे में जांच करेंगे। उन्होंने 209 लोगों के ऊपर यह संशोधन किया और उन्हें कुछ मशहूर सिंगर्स के गाने सुनाये गए। इसके बाद उनका पोलीसोमनोंग्रोफी टेस्ट किया गया। जिससे की यह पता चल सके की उन्हें कितनी अच्छी नींद आ रही है। 
सायकोलोजिकल सायन्स जर्नल में प्रकाशित रिसर्च के अनुसार जब हम जाग रहे होते है तो हमारे दिमाग में कोई भी संगीत चलता रहता है। ऐसा सोने के बाद भी हो सकता है। जिसके कारण नींद में दिक्कत आ सकती है। माइकल के अनुसार आजकल के यंगस्टर्स अधिकतर अपप्ने दिमाग को शांत रखने के लिए रात को सोने के पहले गाने सुनते है। हालांकि उनकी यह आदत उनकी नींद पर असर कर सकती है। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें