बढ़ती उम्र के साथ इन बुरी आदतों को कहें अलविदा, नहीं तो पड़ेगा बहुत भारी

(Photo Credit : gstv.in)

हृदय रोग जैसे अन्य बड़ी बीमारियों से बचने के लिए अपनाएं ये नियम

आजकल कम उम्र में हृदय रोग का खतरा बढ़ता जा रहा है।  वजह है खराब लाइफस्टाइल और खान-पान। ऐसे में अगर आप खान-पान पर ध्यान नहीं देंगे, व्यायाम नहीं करेंगे और गलत मुद्रा में बैठेंगे तो यह आपको गंभीर बीमारियों का शिकार बना सकता है। इससे हृदय रोग और गुर्दे की बीमारी का खतरा बढ़ जाता है। साथ ही यह आपके मानसिक स्वास्थ्य पर भी प्रतिकूल प्रभाव डालता है।
आइए देखते है वो आदत जो आपको बहुत नुकसान पहुंचा सकते है :-

कसरत ना करना
अगर आप 40 की उम्र के बाद वर्कआउट या कसरत नहीं करते हैं तो यह आपको नुकसान पहुंचा सकता है। इस उम्र में आपको रोजाना व्यायाम की जरूरत होती है। अपनी दिनचर्या में मेडिटेशन और वर्कआउट को जरूर शामिल करें। यह आपको मोटापे और हृदय रोगों से बचने में मदद करेगा।

गलत मुद्रा में बैठना
लंबे समय तक गलत मुद्रा में बैठने से हड्डियों में दर्द और मांसपेशियों में ऐंठन हो सकती है।  इससे रीढ़ की हड्डी में गंभीर समस्या हो सकती है।

धूम्रपान करना
वैसे तो किसी भी उम्र में ध्रूमपान नहीं करना चाहिए पर 40 के बाद तो कतई धूम्रपान न करें। धूम्रपान श्वसन प्रणाली को बहुत नुकसान पहुंचाता है। इससे हृदय रोग का खतरा भी बढ़ जाता है।

मस्तिष्क व्यायाम
40 साल की उम्र के बाद ब्रेन एक्सरसाइज आपके लिए जरूरी है। ऐसा करने में विफलता अल्जाइमर रोग या खराब याददाश्त का कारण बन सकती है। मस्तिष्क व्यायाम के लिए पहेलियाँ हल करें। इसे अपनी दिनचर्या में शामिल करें।

रक्तचाप की नियमित जांच करें
यदि आप समय-समय पर अपने रक्तचाप की जांच नहीं करते हैं, तो यह आपके लिए खतरनाक हो सकता है। बीपी के मरीजों में किडनी की बीमारी और हृदय रोग का खतरा बढ़ जाता है, इसलिए नियमित रूप से अपने बीपी की निगरानी करें और इसे नियंत्रण में रखने के लिए दवाएं लें।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें