एम्स के रिसर्च में हुआ खुलासा: रक्षा कवच हैं वैक्सीन, वैक्सीनेशन के बाद मौत की संभवना लगभग शून्य

सूरत में युवा वर्ग को कोरोना की वैक्सीन लगाती नर्स

वैक्सीन लगवाने के बाद कोरोना से संक्रमित होना संभव पर मौत की संभवना नहीं, वैक्सीनेशन के बाद मरने का एक भी मामला सामने नहीं

देश भर में फैले कोरोना महामारी का असर धीरे धीरे कम हो रहा हैं। हर दिन संक्रमित मामलों की संख्या और कोरोना से मरने वाले लोगों की संख्या भी कम हो रही हैं। इसी बीच वैक्सीनेशन की प्रक्रिया भी शुरू हो चुकी हैं लेकिन कोरोना वैक्सीन को लेकर ग्रामीण इलाकों में अभी भी दहशत का माहौल देखने को मिल रहा है। गाँव के लोग टीका लगवाने से डर रहे हैं। 
इसी बीच एम्स की ओर से एक चौकाने वाला दावा प्रकाशित हुआ है। इस जानकारी के अनुसार टीका लगवाने वालों के कोरोना से मरने की संभावना बहुत कम होती है। एम्स की स्टडी में दावा किया गया है कि कोरोना का टीका लगने के बाद अगर कोरोना हुआ भी हैं तो कोरोना होने के बाद अब किसी की मौत नहीं हुई हैं।
आपको बता दें कि इस रिपोर्ट में यह भी दावा किया गया है कि टीकाकरण के बाद कोरोना होने की संभावना अवश्य होती है, लेकिन मृत्यु की संभावना काफी कम हो गई है। पिछले दो महीनों में ऐसा कोई मामला सामने नहीं आया है जिसमें कोरोना का टीका लगाने के बाद व्यक्ति की मौत हो गई हो। इसका मतलब यह है कि जिन लोगों को टीका नहीं लगाया गया है, उनके मरने की संभावना उन लोगों की तुलना में अधिक है, जिन्हें टीका लगाया गया है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें