अमेठी से यूपी चुनाव अभियान की शुरूआत करेंगे राहुल गांधी

(Photo Credit : IANS)

नई दिल्ली, 12 दिसम्बर (आईएएनएस)| कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी अपनी पूर्व लोकसभा सीट अमेठी से यूपी विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार अभियान की शुरूआत करेंगे। अभी तारीख तय नहीं हुई है लेकिन कहा जा रहा है कि राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा 17 और 18 दिसंबर को अमेठी और रायबरेली में होंगे। कांग्रेस की एकमात्र विधायक अदिति सिंह के भाजपा में शामिल होने के बाद पार्टी कमजोर दिख रही है। पार्टी के पास दोनों लोकसभा सीटों पर कोई विधान सभा सदस्य नहीं है क्योंकि रायबरेली में कांग्रेस के टिकट पर चुने गए दोनों विधायक भाजपा में चले गए हैं।
पार्टी विधानसभा चुनाव में सीटों को बरकरार रखने और अगले चुनाव में अपनी संख्या बढ़ाने के लिए अच्छे प्रदर्शन के बारे में सोच रही है। 2019 में अमेठी में राहुल गांधी को हराने वाली केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी भी रायबरेली में पार्टी का आधार बढ़ाने का काम कर रही हैं। दो लोकसभा क्षेत्रों - अमेठी और रायबरेली की कुल दस विधानसभा सीटों में से छह पहले से ही भाजपा के पास हैं। रायबरेली से कांग्रेस के दो विधायक अदिति सिंह और राकेश सिंह बीजेपी में शामिल हो गए हैं और रायबरेली से कांग्रेस एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह भी भाजपा में शामिल हो गए हैं।
अदिति सिंह ने पिछले साल कांग्रेस के खिलाफ बगावत की थी जब उन्होंने पार्टी के व्हिप का उल्लंघन किया था और यूपी विधानसभा के एक दिवसीय विशेष सत्र में भाग लिया था। तब से, वह कांग्रेस नेतृत्व की आलोचना कर रही हैं और भाजपा की प्रशंसा कर रही हैं। पिछले कई महीनों से उनके भाजपा में शामिल होने की उम्मीद थी। इन दोनों जिलों की जिला पंचायतों पर भी बीजेपी का कब्जा है। रायबरेली में, ईरानी ने जुलाई में जिला विकास समन्वय और निगरानी समिति के अध्यक्ष के रूप में सोनिया गांधी की जगह ली है। सोनिया गांधी स्वास्थ्य कारणों से अपने निर्वाचन क्षेत्र से दूर रही हैं। इससे वहां के कांग्रेस कार्यकर्ताओं का मनोबल गिरा है। दो मौजूदा विधायकों सहित कुछ वरिष्ठ नेताओं के चले जाने से उस क्षेत्र में पार्टी को नुकसान पहुंचा है जो कभी कांग्रेस का गढ़ हुआ करता था। रायबरेली और अमेठी की देखरेख करने वाली प्रियंका गांधी भी राज्य स्तर के मुद्दों में व्यस्त रहने के कारण दोनों निर्वाचन क्षेत्रों को ज्यादा समय नहीं दे पाई हैं। दूसरी ओर, भाजपा ने अपनी पहुंच बढ़ाने के लिए एक अच्छा मैदान तैयार किया है। रायबरेली और अमेठी में कांग्रेस का एक भी विधायक नहीं है।
(Disclaimer: यह खबर सीधे समाचार एजेंसी की सिंडीकेट फीड से पब्लिश हुई है। इसे लोकतेज टीम ने संपादित नहीं किया है।)

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें