पीयूष जैन : करोड़ों की अवैध संपत्ति पर सादगी ऐसी जो कायल बना दें! नहीं ली कोई बड़ी गाड़ी आज भी पुरानी स्कूटर से चलता है काम

(Photo Credit : gujarati.oneindia.com)

पीयूष जैन के घर पर छापेमारी के दौरान जीएसटी खुफिया अधिकारियों को बड़ी मात्रा में संपत्ति के साथ-साथ उनका पुराना स्कूटर भी मिला, जिसका इस्तेमाल वह कई सालों से कर रहा

इन दिनों देश भर में कानपुर के इत्र व्यवसायी पीयूष जैन की करोड़ों की अवैध संपत्ति के साथ साथ उनके सादा जीवन शैली की भी चर्चा हो रही है। पीयूष जैन के घर पर छापेमारी के दौरान जीएसटी खुफिया अधिकारियों को बड़ी मात्रा में संपत्ति के साथ-साथ उनका पुराना स्कूटर भी मिला, जिसका इस्तेमाल वह कई सालों से कर रहा था। कन्नौज के मोहल्ला चिप्पट्टी निवासी पीयूष जैन के घर से एक वेस्पा, एंबेसडर और एक पुरानी सेंट्रो कार भी बरामद हुई है। क्षेत्र के लोगों ने बताया कि पीयूष अकूत दौलत बटोर कर भी अपने पुराने वाहनों का ही इस्तेमाल करता रहा।
आपको बता दें कि पीयूष जैन के पिता महेश चंद्र जैन कपड़ों पर छपाई का काम करते थे। जब पीयूष ने अपने पिता का व्यवसाय संभाला, तो उन्होंने एक स्कूटर, एक एंबेसडर मोटरसाइकिल और एक सेंट्रो कार खरीदी। वह आज भी इन सभी वाहनों का उपयोग करता है। कन्नौज में छापेमारी के दौरान पीयूष जैन के घर से मिले वेस्पा स्कूटर की तस्वीर सामने आई है. अपनी अपार संपत्ति के बावजूद पीयूष जैन सादा जीवन व्यतीत कर रहे थे। पड़ोसियों ने कहा कि वह ज्यादातर स्कूटर पर सफर करता था। क्योंकि जिस गली में पीयूष जैन का घर है वह बहुत संकरी है और वहां कोई भी बड़ा वाहन आसानी से प्रवेश नहीं कर सकता है।
आपको बता दें कि 24 दिसंबर को पीयूष जैन के घर पर ईडी की छापेमारी शुरू हुई थी, जिसके बाद उनके कानपुर स्थित घर से 177.45 करोड़ रुपये नकद, कन्नौज के घर से 17 करोड़ रुपये नकद, 64 किलो विदेशी सोना और 600 किलो चंदन का तेल बरामद किया गया था.छापेमारी में अब तक कुल वसूली 232.45 करोड़ की है। पीयूष जैन ने अपने करियर की शुरुआत मुंबई में एक सेल्समैन के रूप में की थी। पीयूष ने अपने पिता से इत्र बनाने की कला सीखी और कानपुर में अपना खुद का व्यवसाय शुरू किया। कारोबार संभालने के बाद पीयूष ने 15 साल में गुजरात और मुंबई में अपने परफ्यूम कारोबार का विस्तार किया। इतना ही नहीं पीयूष ने अंतरराष्ट्रीय बाजारों में भी अपनी पहचान बनाई है।
कन्नौज में अरबपति व्यवसायी पीयूष जैन के घर पर जीएसटी इंटेलिजेंस की छापेमारी लगातार पांचवें दिन भी जारी रही। दोपहर के समय पैसे को मुखबिरों की निगरानी में 5 लोहे के बक्सों में जमा कर भारतीय स्टेट बैंक के स्थानीय मुद्रा तिजोरी में जमा कर दिया गया। वहीं, राजस्व खुफिया निदेशालय (डीआरआई) के अधिकारियों ने 64 किलो सोना जब्त किया। पीयूष के घर से अब तक कुल 232.45 करोड़ रुपये की वसूली हो चुकी है। दिन भर चली सीलिंग की प्रक्रिया मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक दिन भर व्यवसायी पीयूष जैन के परिसर में जब्त संपत्ति को जब्त करने का सिलसिला जारी रहा। घर के कई कमरों की तलाशी ली गई और उन्हें सील कर दिया गया। छापेमारी के दौरान जुटाई गई बड़ी रकम एसबीआई बैंक में जमा करा दी गई है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें