सूरत में शनिवार को मास्क न पहनने वाले 193 लोगों से पालिका ने दंड वसूला

बिना मास्क घर से बाहर निकले लोगों को दंडित करती पुलिस

सूरत के ग्रामीण क्षेत्र में कोरोना के नए संक्रमितों से अधिक मरीज स्वस्थ होकर अस्पताल से डिस्चार्ज हो रहे है।

पुलिस द्वारा मास्क वितरण के बावजूद लोगों की लापरवाही जारी
सूरत।शहर में शनिवार को मास्क न पहनने वाले 193 लोगों से कोविड गाईडलाईन का उल्लंघन करने पर महानगरपालिका के स्वास्थ विभाग द्वारा 1,93,000 का दंड वसूला गया। लोग मास्क पहने बगैर ही घर से बाहर निकलकर लापरवाही दिखाते है। शहर सहित राज्य में हर रोज रोकोर्ड ब्रेक कोरोना केसों में वृद्ध‌ि हो रही है।  प्रशासन द्वारा लोगों को कोविड गाईडलाईन का कड़ाई से पालन करने की अपील की जा रही है फिर भी लोग बिना मास्क लगाए घर से निकलकर लापरवाही बरतते हुए कोरोना संक्रमण को बढ़ावा दे रहे हैं।  
कोरोना महामारी के दौरान कोविड-19 वायरस के संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए सूरत महानगरपालिका द्वारा विभिन्न स्तर पर प्रयास किया जा रहा है।
शहरवासियों को पालिका आयुक्त द्वारा लोगों से आवश्यक रूप से मास्क लगाने, सामाजिक दुरी बनाने, भीड़भाड़वाली जगह से बचने तथा शादी, धार्मिक प्रसंगों में कोविड गाईडलाईन का कडाई से पालन करने की अपील की है। नो मास्क नो एन्ट्री का कड़ाई से पालन कराने के लिए प्रशासन कार्यवाही कर है। शहर में कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ रहा होने के बावजूद लोग कोविड गाईडलाईन और एसओपी का पालन करने में लापरवाही दिखा रहे है। शनिवार को शहर के विभिन्न जोन में मास्क न पहनने वाले 193 लोगों 1,93,000 रुपये का दंड सूरत महानगरपालिका द्वारा वसूला गया। दंड वसूलने का मुख्य हेतु लोगों को कोरोना की गंभीर परिस्थिति के मद्देनजर कोरोना वायरस से लोग स्वयं बचे और अपने परिवार तथा शहर को भी कोरोना वायरस से सुरक्षित रखे। शहर में दिन प्रतिदिन बढ रहा कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए महानगरपालिका को साथ सहयोग दे। मास्क न पहनने पर महानगरापालिका 1000 रुपये का दंड वसूलेगी और जरूरत पड़ने पर शिक्षात्मक कार्यवाही करते हुए एकेडेमिक एक्ट के तहत पुलिस शिकायत भी कर सकती है। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें