दुनिया में रहने के लिए सबसे अच्छे शहरों की सूची के टॉप सौ में एक भी भारतीय शहर नहीं, दिल्ली 112 वें स्थान पर

ऑस्ट्रिया की राजधानी वियना शीर्ष पर, पाकिस्तान की वित्तीय राजधानी कराची व बांग्लादेश की राजधानी ढाका को दुनिया में सबसे कम रहने लायक शहरों में

द इकोनॉमिस्ट मैगजीन के सालाना इंटरनेशल लिवेबिलिटी सूचकांक ने दुनिया में रहने के लिए सबसे अच्छे शहरों की सूची जारी की है। इस सूची के शीर्ष दस शहरों में यूरोप का दबदबा रहा। इसमें सबसे ज्यादा छह शहर यूरोपीय देशों के हैं। ऑस्ट्रिया की राजधानी वियना भारी उलटफेर करते हुए प्रथम स्थान पाया है। पिछली सूची में वियना के स्थान पर ऑकलैंड का नाम था। वहीं दसवें स्थान पर संयुक्त रूप से जापान का ओसाका और ऑस्ट्रेलिया का मेलबर्न है। वहीं भारत की बात करें तो दुनिया में रहने योग्य सबसे अच्छे शहरों में भारत ही नहीं दक्षिण एशियाई देशों का प्रदर्शन बेहद खराब रहा। कुल 140 शहरों की इस सूची में भारत का पहला राज्य दिल्ली 112वीं पायदान पर है।  सूची में मुंबई 117वें स्थान पर रहा। इस सूची में शहरों की रैकिंग राजनीतिक और सामाजिक स्थिरता, अपराध, शिक्षा व स्वास्थ्य सेवा तक पहुंच समेत कई कारकों के आधार पर की गई है।
आपको बता दें कि द इकोनॉमिस्ट पत्रिका द्वारा जारी वार्षिक वैश्विक लिवेबिलिटी सूचकांक में इस साल पिछले साल शीर्ष पर रहने वाली ऑकलैंड 34वें नंबर पर चला गया है, जबकि वियना ने अपनी जगह वापस पा ली है। इकोनॉमिस्ट इंटेलिजेंस यूनिट (ईयूआई) की रिपोर्ट के अनुसार, दस शीर्ष शहरों में वियना, मेलबोर्न, ओसाका, कैलगरी, सिडनी, वैंकूवर, टोक्यो, टोरंटो, कोपेनहेगन और एडिलेड हैं।  साथ ही बताते चले कि वैश्विक लिवेबिलिटी सूचकांक में दक्षिण एशियाई शहरों का प्रदर्शन काफी खराब रहा। दक्षिण एशियाई 6 शहरों में दिल्ली शीर्ष पर रहा और उसके बाद मुंबई 117 वें स्थान पर है। पाकिस्तान की वित्तीय राजधानी कराची व बांग्लादेश की राजधानी ढाका को दुनिया में सबसे कम रहने लायक शहरों में रखा गया। चीनी राजधानी बीजिंग 71वें नंबर पर है जबकि सीरिया की राजधानी दमिश्क को सूची में सबसे नीचे जगह मिली है।
खास बात ये है कि इस बार की सूची में यूक्रेन की राजधानी कीव को वहां के वर्तमान युद्ध वाले हालातों के कारण शामिल नहीं किया गया। साथ ही रूस के शहर सेंट पीटर्सबर्ग की रैंकिंग भी गिर गई है। वहीं अच्छे शहरों की बात करें तो शीर्ष 10 में कई यूरोपीय शहरों ने जगह बनाई है। दूसरे नंबर पर डेनमार्क की राजधानी कोपेनहेगन है। उसके बाद स्विट्जरलैंड का ज्यूरिख है। स्विस शहर जेनेवा छठे और जर्मनी का फ्रैंकफर्ट सातवें नंबर पर है। नीदरलैंड्स की राजधानी एम्सटर्डम नौवें नंबर पर है। कनाडा अकेला ऐसा देश है जिसके तीन शहर टॉप 10 में हैं। इनमें कैलगरी का तीसरा, वैंकुवर का पांचवां और टोरंटो का आठवां नंबर है। जापान का ओसाका और ऑस्ट्रेलिया का मेलबोर्न संयुक्त रूप से दसवें नंबर पर हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें