किसानों के लिए काम की खबर, मोदी सरकार की इस योजना के तहत मिलेगी कम व्याज पर 5 लाख तक की लोन

आत्मनिर्भर भारत योजना के तहत किसान सम्मान योजना और किसान क्रेडिट कार्ड योजना को किया गया है एक साथ लिंक

केंद्र सरकार ने हाल ही में पीएम किसान योजना की 9वीं किस्त की घोषणा की है। सरकार की इस योजना से देश भर के लाखों किसान लाभान्वित हो रहे हैं। उल्लेखनीय है कि सरकार इस योजना के तहत किसानों को सस्ती दरों पर कर्ज दे रही है। दरअसल, पीएम किसान सम्मान योजना और किसान क्रेडिट कार्ड योजना को आत्मनिर्भर भारत योजना के तहत आपस में जोड़ दिया गया है। किसान क्रेडिट कार्ड योजना के तहत सरकार किसानों को सस्ती दरों पर कर्ज उपलब्ध करा रही है।
इस योजना के तहत फसल बोने के लिए किसानों को बैंकों से बहुत कम ब्याज दरों पर कर्ज मिलता है। जिसे लोकोमोटिव किसान क्रेडिट कार्ड द्वारा प्रदान किया जाता है। इस योजना के तहत किसानों को 3 लाख रुपये तक बिना गारंटी के लोन दिया जा रहा है। इसके अलावा 3 से 5 लाख रुपये का अल्पकालीन ऋण मात्र 4 प्रतिशत की ब्याज दर पर उपलब्ध कराया जा रहा है। इन कर्जों पर सरकार 2 फीसदी की सब्सिडी दे रही है। ऋण के समय पर भुगतान पर 3 प्रतिशत की छूट है। इस तरह कर्ज सिर्फ 4 फीसदी पर मिलता है लेकिन अगर कर्ज देर से चुकाया जाता है तो इस कर्ज पर ब्याज दर 7 फीसदी बढ़ जाती है.
यदि आप भी किसान है और आपको भी अपना किसान क्रेडिट कार्ड बनवाना है तो आपको नीचे दी गई मार्गदर्शिका का पालन करना होगा। 
  • किसान क्रेडिट कार्ड बनाने के लिए सबसे पहले आपको भूमि सर्वेक्षण और अन्य आवश्यक कार्य पूरे करने होंगे।
  • फिर बैंक जाकर मैनेजर से मिल कर किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने का आवेदन करना होगा।
  • ध्यान रहे कि किसान क्रेडिट कार्ड सरकार की ओर से बिना किसी प्रोत्साहन के किसी भी ग्रामीण बैंक से बनवाया जा सकता है जिससे किसानों को लाभ हो।
  • इसके बाद बैंक मैनेजर इसे अपने वकील के पास भेज देगा और जरूरी जानकारी हासिल कर लेगा।
  • फिर आपको बैंक में जाकर एक फॉर्म भरना होगा।
  • इसके साथ कुछ कागजी कार्रवाई करनी होगी। जिसके बाद आपका किसान क्रेडिट कार्ड बन जाएगा।
  • आपको कितनी लोन की सुविधा मिलेगी यह इस बात पर निर्भर करता है कि आपके पास कितनी जमीन है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें