मद्रास : अगर साथ रहने से फैलती हैं घर में अशांति तो पत्नी के पास है पति को घर से निकालने का अधिकार

प्रतिकारात्मक तस्वीर

एक मामले में सुनवाई करते हुए मद्रास उच्च न्यायालय ने कहा है कि यदि किसी भी पक्ष, पति के रहने और उसके अनियंत्रित बर्ताव के कारण घरेलू शांति भंग होती है, तो पत्नी के पास ये पूरा अधिकार है कि वो अपने पति को घर से निकाल सकती है

किसी भी रिश्ते में सबसे जरूरी होता हैं दो लोगों के बीच प्यार, सम्मान और एक दूसरे के प्रति इज्जत की भावना। यहीं जरूरी होता है किसी भी पति पत्नी या प्रेमी जोड़े में भी। ऐसे में अगर किसी जोड़े के बीच आपसी सहमति, तालमेल और साझेदारी के साथ साथ प्रेम की कमी हो तो वो रिश्ता चल नहीं सकता। एक मामले में सुनवाई करते हुए मद्रास उच्च न्यायालय ने कहा है कि यदि किसी भी पक्ष, पति के रहने और उसके अनियंत्रित बर्ताव के कारण घरेलू शांति भंग होती है, तो पत्नी के पास ये पूरा अधिकार है कि वो अपने पति को घर से निकाल सकती है। मामले में सुनवाई करते हुए न्यायमूर्ति आरएन मंजुला ने उद्योगपति पति को अपनी वकील पत्नी और दो बच्चों को छोड़कर कहीं और घर ढूंढ़ने का निर्देश दिया।
मामले में मिली जानकारी के अनुसार वी अनुषा नाम की महिमा ने शहर में एक फैमिली कोर्ट के समक्ष अपनी शादी तोड़ने के लिए एक याचिका दायर की थी। साथ ही मामले के समाप्त होने तक बच्चों के हित में घर पति को घर से बाहर जाने का निर्देश देने के लिए एक याचिका दायर की थी। एक पारिवारिक अदालत ने उसकी याचिका को आंशिक रूप से स्वीकार करते हुए पति को निर्देश दिया था कि वह मुख्य याचिका के निपटारे तक घर में पत्नी की शांति को किसी भी तरह बाधित न करे।
आपको बता दें कि याचिका को स्वीकार करते हुए न्यायमूर्ति मंजुला ने कहा कि याचिकाकर्ता और उसके पति के बीच विवाह सफल नहीं रहा, जिसके कारण घर मे घमासान मचा हुआ है। दोनों ही पक्ष एक दूसरे को गलत ठहरा रहे है। पत्नी पति को अनियंत्रित और कठोर, जबकि पति खुद के एक बहुत ही अच्छा पिता होने की बात कही। पति का ये भी कहना है कि उसकी पत्नी ने एक वकील होने के कारण उसे अदालत में घसीटा है। जज ने कहा कि हालांकि एक-दूसरे द्वारा लगाए गए आरोपों के गुण-दोष से निपटना उचित नहीं है, याचिका में की गई प्रार्थना पर फैसला करने के लिए पार्टियों के आचरण के बारे में कुछ बुनियादी विचार आवश्यक हैं। पति ने कहा कि उसकी पत्नी घर पर रहना पसंद नहीं करती है, और अक्सर बाहर जाती है। उसने दावा किया कि एक आदर्श मां वह होती है जो हमेशा घर पर रहती है और केवल घर का काम करती है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें