जानें क्यों नोटबंदी के समय के CCTV फूटेज संभाल कर रखे जायेंगे!?

(Photo : IANS)

केंद्र सरकार द्वारा गया था साल 2016 में नोटबंदी का निर्णय

रिजर्व बैंक द्वारा एक बड़े आदेश के तहत सभी बैंको को 8 नवंबर 2016 से 30 दिसंबर 2016 तक अपनी सभी ब्रांचो और करन्सी चेस्ट के सीसीटीवी रिकॉर्डिंग को संभालकर रखने का आदेश दिया गया है। रिजर्व बैंक ने बताया की अगले आदेश तक सभी को इस समय अवधि के दौरान की सीसीटीवी फुटेज संभालकर रखनी है, जिससे उन्हें नोटबंदी के दौरान अयोग्य गतिविधि में शामिल व्यक्तियों के खिलाफ कार्यवाही करने में मदद मिल सके। 
बता दे की सरकार द्वारा 8 नवंबर 2016 में देश भर में से ब्लैक मनी को रोकने के लिए 500 और 1000 रुपए की नोटों पर प्रतिबंध लगा दिया गया था। सरकार द्वारा लोगों को कुछ समय अवधि के लिए बंद हुये नोटों को अपने बैंक अकाउंट में जमा करने की या एक्सचेंज करने की मोहलत भी दी थी। इस दौरान बंद हुई नोटों को बैंक में जमा करवाने के लिए सही बैंक के बाहर लंबी लंबी कतारे लगी थी। 
इसके बाद सरकार द्वारा 500 और 2000 की नई नोट अस्तित्व में आई थी। आरबीआई ने एक परिपत्र जारी कर कहा है की सभी जांच एजंसियों की जांच के लिए और कोर्ट में पड़े पेंडिग मामलों की सुनवाई के मामलों को देखते हुये अगले आदेश तक 8 नवंबर 2016 से 30 दिसंबर 2016 तक की सभी ब्रांच और करन्सी चेस्ट की सीसीटीवी रिकॉर्डिंग सँभालकर रखने का आदेश दिया है। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें