जानिए 'शैतान' शूज़ को लेकर क्या बवाल मचा है!

(Photo Credit : gujaratsamachar.com)

शुज की बनावट में किया है इस चीज का इस्तेमाल

अमेरिका की एक कंपनी ने इंसान के खून का इस्तेमाल कर शूज बनाए होने की बात के सामने आने से काफी बड़ा विवाद मचा है। कई लोगों ने कंपनी पर ईश्वर के अपमान करने का 'शैतानीकरण' को बढ़ावा देना का आरोप लगाया है। 
इंसान के खून का किया गया है इस्तेमाल
न्यूयॉर्क की कंपनी MSCHF ने ब्रुकलिन की एक कंपनी और मशहूर रेपर लील नास के साथ मिलकर इस शूज की 666 जोड़ बनाई है। हर जोड़ी की कीमत भारतीय मुद्रा में 75000 रुपए है। कंपनी का कहना है की इस जूते में लाल रंग का जो हिस्सा है, उसमें इंसान के खून का भी समावेश होता है। हर जूते में इंसान के खून के एक कतरे का इस्तेमाल किया गया है। 
शेतान का प्रतिक है जूते पर बना निशान
कई लोगों का कहना है की इस जूते पर एक पंचकोण का इस्तेमाल किया गया है। जो की ईश्वर का अपमान है। लोगों का कहना है की पंचकोण यानि की पेंटाग्राम शेतान का प्रतिक है। इसके अलावा बाइबल के कुछ लिखावट का भी जूते पर इस्तेमाल किया गया है। 
कंपनी और विवाद का है पुराना नाता
कंपनी ने अपने जूते पर मशहूर शूज ब्रांड नाइकी के लोगो का भी इस्तेमाल किया है। कंपनी के इस तरह के कार्य से नाइकी के गुडविल में भी काफी फर्क आया है। जिससे की क्रोधित नाइकी कंपनी ने MSCHF कंपनी पर केस भी थोक दिया है। हालांकि यह पहली बार नहीं है, जब कंपनी विवाद में आई हो। इसके पहले कंपनी ने साल 2019 में जीसस शूज लॉंच किए थे। जिसमें शूज के सोल बनाने के लिए कंपनी ने जॉर्डन नदी के पवित्र पानी का इस्तेमाल किया था। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें