जानें किस देश में 2 किलो आलु और आधे किलो चावल की कीमत हैं 10 लाख!

(Photo Credit : gujaratsamachar.com)

लोकडाउन और तेल की गिरती कीमतों के कारण लगातार 7वें साल मंदी का सामना कर रहा हैं देश

खनिज तेल से समृद्ध दक्षिण अमेरिका के देश वेनेजुएला ने आर्थिक मंदी और भयावह मुद्रास्फीति से निपटने के लिए 1 मिलियन बोलिवर मुद्रा नोट जारी किया है। दुनिया के किसी भी अन्य देश ने इसके पहले कभी इतने बड़े मुद्रा का नोट नहीं छापा है। हैरानी की बात ये है कि इस 1 मिलियन या दस लाख कीमत वाली वेनेजुएला के नोट की कीमत आधे अमेरिकी डॉलर यानी लगभग 36 रुपये जितनी है।
भारत में क्या है इसकी कीमत?
इस बारे में बताते हुए वेनेजुएला के केंद्रीय बैंक ने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था को इस तरह के बड़े करेंसी नोट जारी करने की जरूरत है। 1 मिलियन बॉलिवर की नोट के बाद दो लाख बोलिवर और पांच लाख बोलिवर की नोट भी अगले सप्ताह जारी किए जाएंगे। वर्तमान में वेनेजुएला में 10,000, 20,000 और 50,000 बोलिवर के नोट हैं। वेनेजुएला में एक भारतीय रुपये का मूल्य 25584.66 बोलिवर है। ऐसे में भारत में इस 10 लाख के नोटों के सामने केवल दो किलो आलू और आधा किलो चावल खरीदे जा सकते हैं। आपको बता दें कि सरकार लोगों की सुविधा के लिए बड़ी कीमत वाले नोट छापने की योजना बना रही है ताकि सामान्य आदमी को बड़ी मात्रा में नकदी ले जाने से छुटकारा मिल जाए।
देश की अर्थव्यवस्था है डामाडोल
कोरोना वायरस लॉकडाउन और गिरते तेल की कीमतें के कारण इस देश की अर्थव्यवस्था लगातार सातवें साल मंदी की गिरफ्त में है। देश भर में बेरोजगारी और मंहगाई बढ़ रही है, लाखों लोग भूखे मर रहे हैं, देश में लगभग 7,00,000 ऐसे लोग हैं उनके पास खाने के लिए पैसे नहीं हैं। वर्तमान में UN भोजन कार्यक्रम के तहत अन्न वितरित किया जा रहा है, फिर भी देश में हर तीन में से एक नागरिक के पास खाने के लिए भोजन नहीं है।
गौरतलब है कि मुद्रा के कीमतों में गिरावट, बिजली की कटौती और बुनियादी जरूरतों की चीजे तेजी से मंहगी हो रही है। देश में बिजली संकट इतना बढ़ गया कि अप्रैल 2016 में सरकार ने फैसला किया कि केवल सोमवार और मंगलवार को ही सरकारी कार्यालय कार्यरत किए जाएंगे। देश में मंहगाई दर 2,600 प्रतिशत से अधिक चल रही है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें