कमलनाथ ने साझा किया सोशल मीडिया फोरवर्ड; ‘अच्छे दिन और 15 लाख के लालच में नहीं पड़ते तो ‌अभी जीवित होते!’

मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने देश में कोरोना के वर्तमान हालात पर टिप्पणी करते हुए एक के बाद एक दो-चार ट्वीट किये। उन्होंने सोशल मीडिया से एक संदेश को ‘साभार’ साझा किया जिसमें लिखा हुआ था कि ‘श्मशान में शव आपस में बातें कर रहे थे - अगर ‘अच्छे दिन’ और ‘15 लाख’ के लालच में नहीं पड़ते तो अभी तक जीवित होते और 25-30 वर्ष और जी लेते?’

कांग्रेसी नेता ने चुंकि इस सोशल मीडिया फोरवर्ड को साभार साझा किया है, यानि वो उनके खुद का मत नहीं, लेकिन इसके बाद आगे ट्वीट करते हुए उन्होंने लिखा कि मानवता के लिये यह मुश्किल दौर है। हर विषय पर प्रोसे जाने वाली झूठ की कीमत आने वाली पीढ़ियां चुकायेगी। झूठ को पहचाने, सच्चाई का साथ दें। 
कमलनाथ ने लिखा कि कुछ वर्षों पहले कही गई बात आज कितनी सच है? लोग इतना झूठ सुन चुके होंगे कि सच को भी नहीं पहचान पाएंगे। हम लोग लगातार झूठ सुन-सुन कर सच को भी पहचानना भूल गये हैं और यदि कोई सच भी बोलता है तो हमें वो भी झठ लगता है।
निसंदेह, कमलनाथ के निशाने पर केंद्र और राज्य सरकार है। बता दें कि मध्यप्रदेश में भी विगत दिनों में कोरोना के मामले तेजी से बढ़े हैं।  हालांकि विशेषज्ञों का मानना है कि मई महीने के अंत तक कोरोना की दूसरी लहर देश में धीमी पड़ सकती है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें