प्रेमी से मिलने पर रोक लगाई तो पत्नी ने करवा दी अपने ही पति की मृत्यु, जानें कैसे सामने आया सच

प्रतिकात्मक तस्वीर (Photo Credit : pixabay.com)

सितंबर के बाद से ही परिवार के साथ नहीं हुआ संपर्क तो बड़े भाई ने लिखवाई थी गुमशुदा की शिकायत, सोनीपत पहुँचकर बिहार पुलिस ने की पूछताछ और सामने आया हैरान कर देने वाला सच

हरियाणा का सोनीपत जिले से एक हैरान कर देने वाली और क्रूर घटना सामने आई है। सोनीपत जिले के बरोटा गांव में 3 बच्चों की मां ने प्रेमी के साथ मिलकर अपने ही पति की हत्या कर दी। हत्या करने के बाद पत्नी और उसके प्रेमी ने मिलकर शव को दिल्ली-अंबाला रेलवे ट्रैक के किनारे झाड़ियों में फेंक दिया। पत्नी और प्रेमी ने जिस शख्स की हत्या की वह मूल रूप से बिहार का रहने वाला था। पूरे मामले में मृतक के परिजनों ने बिहार पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई थी। जिसकी जांच में इस पूरे राज का पर्दाफ़ाश हुआ। फिलहाल बिहार पुलिस आरोपी महिला और उसके प्रेमी को लेकर सोनीपत पहुंच है।
पुलिस द्वारा हिरासत में लिए जाने के बाद दोनों आरोपियों ने लाश का ठिकाना बताया था, जहां से पुलिस को लाश बरामद भी हुई। जीआरपी द्वारा कंकाल को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजे जाने के बाद आरोपी महिला और उसके प्रेमी के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया गया है। जीआरपी के अनुसार मृतक रामबालक की पत्नी गुलाब देवी ने बताया कि उसके गांव के विजय यादव से वह पिछले डेढ़ साल से प्यार करती थी। पर जब इस प्रेम संबंध की जानकारी पति को हुई तो उसने दोनों का मिलना पूरी तरह से बंद करवा दिया। इसके चलते दोनों ने पति को रास्ते से हटा देने का प्लान बनाया। 
अपने प्लान के अनुसार पत्नी अपने पति को 24 सितंबर को बहाने से बरोटा-सफियाबाद रोड पर ले गई। जहां उसका प्रेमी विजय पहले से ही मौजूद था। मौका मिलते ही विजय ने रामबालक के सिर पर डंडे से प्रहार कर उसकी हत्या कर दी। बिहार के पूर्वी चंपारण जिले के भवानीपुर निवासी 36 वर्षीय रामबालक यादव 10 अगस्त को अपनी पत्नी गुलाब देवी और तीन बच्चों के साथ काम करने सोनीपत आया था। सितंबर के बाद से ही रामबालक के भाई दीनबंधु यादव का उनसे कोई संपर्क नहीं था। 
कई दिनों तक भाई से बात ना हो पाने पर दीनबंधु ने अपने भाई की गुमशुदगी की शिकायत बिहार के सिसेश्वर थाने में दर्ज करवाई। जिसके बाद हत्या का खुलासा हुआ। हत्या के मामले की जानकारी हासिल करने के लिए बिहार पुलिस सोनीपत पहुंची, जहां उन्होंने दोनों आरोपियों को हिरासत में लिया और उसके बाद पूछताछ के दौरान दोनों आरोपियों ने रामबालक की लाश को जिस जगह पर फेंका था, वह स्थान पुलिस को बताया। पुलिस के साथ विजय यादव और रामबालक का परिवार बताए हुये स्थान पर पहुंचा। जहां उन्हें खोपड़ी का कुछ हिस्सा और हड्डियाँ मिली थी। बता दे की आरोपी पत्नी गुलाब देवी और रामबालक की तीन संताने भी है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें