करनी है यूपीएससी की तैयारी पर वर्तमान नौकरी को लेकर है परेशान तो सुनिए इस आईएस की कहानी

(Photo Credit : trishulnews.com)

2019 में में ऑल इंडिया रैंक 57 हासिल करने वाली इस अधिकारी ने नौकरी के साथ साथ पास की यूपीएससी की परीक्षा

आज के समय महत्वाकांक्षी युवाओं में यूपीएससी एक बहुत बड़ा लक्ष्य बना हुआ है। यूपीएससी के लिए बहुत ही कठिन परिश्रम की जरुरत होती है और बहुत से युवा यूपीएससी करना चाहते है पर घर की जिम्मेदारी और नौकरी के चक्कर में पढाई को पूरा समय नहीं दे पाते। ऐसे में अगर आप भी नौकरी के साथ यूपीएससी की तैयारी करने की सोच रहे हैं, तो आपको आईएएस अधिकारी यशनी नागराजन की कहानी जरुर जाननी चाहिए। आपको जानकर हैरानी होगी कि याशनी पूरे दिन नौकरी के साथ यूपीएससी की तैयारी करती रही। साल 2019 में बेहतर टाइम मैनेजमेंट के चलते उन्होंने चौथे प्रयास में ऑल इंडिया रैंक 57 हासिल कर आईएएस बनने का सपना पूरा किया। उनका मानना है कि यूपीएससी की तैयारी के लिए आपको नौकरी छोड़ने की जरूरत नहीं है। आप कड़ी मेहनत करके नौकरी के साथ अपने सपने को भी पूरा कर सकते हैं।
अपने चौथे प्रयास में यूपीएससी में सफलता पाने वाली यशनी के मुताबिक, वह हफ्ते के ज्यादातर समय रोजाना 4 से 5 घंटे पढ़ाई करती थीं। इसके अलावा, वह सप्ताह के अंत में (मुख्यतः शनिवार और रविवार) पूरे दिन पढ़ने की कोशिश करती थी। उनका मानना है कि अगर आप नौकरी के साथ यूपीएससी की तैयारी कर रहे हैं तो आपको वीकेंड पर ज्यादा मेहनत करने की जरूरत है। आपको वीकेंड पर ज्यादा से ज्यादा समय बिताना चाहिए और इससे आपकी तैयारी मजबूत होगी। उनका मानना है कि अगर आप सही समय सारिणी बनाते हैं, तो आप रोजाना 4 से 5 घंटे पढ़ाई में लगा सकते हैं।
यशनी ने लोगों को अपने पसंद के विषय को वैकल्पिक विषय के रूप में चुनने की सलाह दी है। उन्होंने बताया कि शुरू में दूसरों को देखकर भूगोल को वैकल्पिक विषय के रूप में चुना। इसका खामियाजा उन्हें भुगतना पड़ा और उन्होंने शुरुआती प्रयास में इस विषय में अच्छा प्रदर्शन नहीं किया। जब वह असफल हुई और उसने अपना विकल्प बदल लिया। वैकल्पिक विषय यूपीएससी में सफलता में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।
यशनी कहती हैं, ''निबंध और नैतिकता ऐसे पेपर हैं जिनमें आप सबसे ज्यादा अंक हासिल कर सकते हैं। इसलिए इन दोनों विषयों पर ध्यान देना बहुत जरूरी है। यशनी का मानना है कि नौकरी के साथ यूपीएससी की तैयारी करना थोड़ा मुश्किल है, लेकिन इससे आपको फायदा भी होता है। जब आप काम कर रहे हों, तो असफल होने पर अपने करियर के बारे में ज्यादा चिंता न करें। उनका कहना है कि आप इस परीक्षा को अच्छे समय प्रबंधन और कड़ी मेहनत के साथ पास कर सकते हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें