गुजरात : कोरोना के नए वेरिएंट को रोकने के लिए सरकार ने उठाया बाद कदम

प्रतिकात्मक तस्वीर

कई देशों के हवाई अड्डों से सफर कर राज्य में आने वालों के लिए आरटीपीसीआर जांच अनिवार्य

अन्य देशों में फैले कोरोना के संक्रमण को देखते हुए गुजरात सरकार एक बड़ा फैसला किया है। गुजरात सरकार ने कई देशों के हवाई अड्डों से सफर कर राज्य में आने वालों के लिए आरटीपीसीआर जांच अनिवार्य कर दिए कर दिया है। इन देशों की सूची में यूरोप, ब्रिटेन, ब्राजील, दक्षिण अफ्रीका, बांग्लादेश, बोत्सवाना, चीन, मॉरीशस, न्यूजीलैंड, जिम्बाब्वे, हांगकांग का नाम शामिल है और इन देशों से आने वाले यात्रियों के लिए आरटी-पीसीआर टेस्ट अनिवार्य कर दिया है।गौरतलब है कि गुजरात सरकार का यह फैसला ऐसे वक्त में आया है जब इस नए संकट के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोविड और कोविड रोधी टीकाकरण के मुद्दे पर अहम बैठक कर रहे हैं।आपको बता दें कि नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में कैबिनेट सचिव राजीव गौबा, प्रधान मंत्री के प्रधान सचिव पीके मिश्रा, केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण और नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) डॉ वीके पॉल जैसे अधिकारियों की उपस्थित कोविड की स्थिति और टीकाकरण को लेकर एक बैठक की।इसके अलावा विश्व स्वास्थ्य संगठन की एक सलाहकार समिति ने दक्षिण अफ्रीका में पहली बार सामने आए कोरोना वायरस के नए प्रकार 'ओमिक्रॉन' को 'बेहद तेजी से फैलने वाला चिंताजनक प्रकार' करार दिया है।वहीं गुजरात में कोरोना की बात करें तो राज्य में कोरोना के मामले बढ़कर 8,27,354 हो गए। वहीं मरने वालों की संख्या 10,092 हो गई है। वहीं कोरोना से ठीक होने वालों की संख्या 8,16,954 हो गई है। राज्य में फिलहाल 324 एक्टिव केस हैं। दूसरी ओर टीकाकरण की बात करें तो राज्य में अब तक 7.94 करोड़ की खुराक दी जा चुकी है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें