जानें आखिर क्यों अपने ही ससुर के घर पर नितिन गडकरी ने चलवा दिया था बुलडोजर

(Photo : IANS)

हरियाणा के सोहना में आयोजित पत्रकार परिषद में नितिन गडकरी ने खोला अपना सालों पुराना राज

भारत के केन्द्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी आए दिन अपने सड़क और यातायात से जुड़ी नई नीतियों के कारण चर्चा में बने हुये है। एक बार फिर से नितिन गडकरी चर्चा में आए है, हालांकि इस बार उनके चर्चा में आने का कारण उनके द्वारा कोई नई नीति नहीं पर उनका एक राज है। वह राज जो सालों से नितिन गडकरी ने अपनी पत्नी से भी छिपा कर रखा था। हरियाणा के सोहना में एक कार्यक्रम में मौजूद नितिन गडकरी ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुये अपने इस राज को वहाँ मौजूद अधिकारी और पत्रकारों के साथ साझा किया था। 
नितिन गडकरी ने अपना राज साझा करते हुये बताया कि जब उनकी नई-नई शादी हुई थी तभी एक सड़क परियोजना के लिए उनके ससुर का घर सड़क के बीच में आ रहा था। नई सड़क बनने के कारण लोगों का आवागमन सुलभ हो जाता और इसके लिए उस घर को हटाना जरूरी था। इसलिए उन्होंने अपने ही ससुर के घर पर बुलडोजर चलवा दिया। नितिन ने कहा कि यह बात उन्होंने किसी को भी नहीं बताई थी। 
दरअसल नितिन गडकरी ने यह किस्सा इस लिए साझा किया क्योंकि कुछ ही समय पहले किए गए केंद्रीय मंत्री इंद्रजीत सिंह राव के कार्य ने भी कुछ ऐसा ही किया था। जब सड़क के निर्माण के बीच में आ रहे घर को खाली कर के तुड़वाने का आदेश दिया। नितिन गडकरी ने कहा कि नेताओं को ऐसा ही करना चाहिए। उन्हें अतिक्रमण को प्रोत्साहन नहीं देना चाहिए। 
इसके अलावा प्रेस कॉन्फ्रेंस में नितिन गडकरी ने टोल टैक्स को लेकर भी कई सवालों के जवाब दिये। लोगों के सवालों का जवाब देते हुये नितिन गडकरी ने शादी का उदाहरण देते हुये कहा कि यदि आपको शादी करनी है और उसके लिए एसी हॉल चाहिए तो उसके लिए पैसा देना पड़ेगा। वरना शादी तो एक खुल्ले मैदान में भी हो सकती है। मंत्रालय के एक लाख करोड़ के बजट में यदि उन्हें 15 लाख करोड़ की सड़क बनानी है तो उन्हें निवेशकों से पैसे लेने ही पड़ेंगे। अब यदि निवेशकों से पैसा लिया है तो उन्हें वापस भी तो देना ही पड़ेगा। ऐसे में टोल टैक्स ही इसमें सहायक साबित हो सकता है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें