ईपीएफओ : अगर आपका भी है पीएफ खाता तो ये खबर है आपके लिए बहुत जरुरी

(File Photo : IANS)

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ने अपने खाताधारकों के लिए ई-नॉमिनेशन जरूरी कर दिया

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन या ईपीएफओ ने अपने खाताधारकों के लिए एक जरुरी सुचना जारी की है। अब ईपीएफओ ने अपने खाताधारकों के लिए ई-नॉमिनेशन जरूरी कर दिया है। इस सुचना के अनुसार खाताधारक जो अब तक आराम से बिना ई-नॉमिनेशन कराए भी अपना पीएफ पासबुक और बैलेंस देख पा रहे थे अब से ई-नॉमिनेशन के बिना वो पीएफ पासबुक भी नहीं देख पाएंगे। 
आपको बता दें कि ईपीएफ खाते में ई-नॉमिनेशन के लिए खातेदार को कुछ कुछ सामान्य से कदम उठाने उठे है। इसके लिए खातेदार को सबसे पहले अपने नॉमिनी का नाम, उसका पता और खाताधारक के साथ संबंध बताना होता है। साथ ही खातेदार को नॉमिनी की जन्मतिथि और पीएफ खाते में जमा पैसे का कितना फीसदी हिस्सा उसे देना है ये जानकारी दें होती है। ध्यान देने वाली बात ये है कि अगर नॉमिनी नाबालिग है तो उसके अभिभावक का नाम और पता देना पड़ता है। नॉमिनी का हस्ताक्षर या उसके अंगूठे का निशान देना जरूरी है।
अगर हम ई-नॉमिनेशन और नॉमिनी के बारे में बात करें तो किसी भी बचत योजना खाते के मामले में नॉमिनेशन जरूरी है। नॉमिनी की जानकारी देने से खाताधारक की मौत के बाद पैसा उस नॉमिनी तक पहुंच जाता है। ईपीएफ और इंप्लाई पेंशन स्कीम के मामले में भी नॉमिनेशन करना चाहिए ताकि ईपीएफओ सदस्य की असमय मौत के बाद नॉमिनी को यह फंड समय से मिल जाए।
कैसे कर सकते हैं ई-नॉमिनेशन
अगर आपका भी पीएफ खाता है और आप भी ई-नॉमिनेशन करना चाहते है तो इसके लिए आपको सबसे पहले ईपीएफ मेंबर पोर्टल पर यूएएन व पासवर्ड डालकर लॉग-इन करना होता है। इसके बाद खातेदार को मैनेज सेक्शन में जाकर ई-नॉमिनेशन विकल्प पर क्लिक करना है। फिर प्रोफाइल में स्थायी व अस्थायी पता डालकर 'सेव' बटन पर क्लिक करना है। साथ ही आप परिवार वाले हैं या नहीं, इसका भी चयन करना होता है। इसके बाद परिवार से सदस्यों के आधार नंबर, नाम, जन्मतिथि, लिंग, पता, नॉमिनी के नाबालिग  होने की स्थिति में अभिभावक की जानकारी भरकर सेव फैमिली डिटेल्स का चयन करना होता है। आपको बता दें कि आप अपने खाते में एक से ज्यादा नॉमिनी भी जोड़ सकते हैं। इतना ही नहीं आप किस नॉमिनी को कितनी राशि आवंटित करना चाहते है आप उसकी जानकारी दे सकते हैं। सारी आवश्यक जानकारी देने के बाद आधार की वर्चुअल आईडी डालकर 'वेरिफाई' पर क्लिक करना होता है। आधार नंबर या आधार की वर्चुअल आईडी दर्ज कर 'गेट ओटीपी' पर क्लिक करना है। इसके बाद आधार से जुड़े मोबाइल नंबर पर ओटीपी आएगा। जिसे सबमिट करने के बाद ईपीएफओ में नॉमिनेशन की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी। सबसे बड़ी बात ऐसा करने के के बाद फिजिकल दस्तावेज देने की जरूरत नहीं होगी।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें