दुःखांतिका : 10 साल का बच्चा स्कूल बैग गले में लगाकर झूल रहा था, लग गई फांसी

सूरत के सचिन जीआईडीसी क्षेत्र का मामला, बच्चे की मौत से परिवार ने खोया इकलौटा बेटा

सचिन जीआईडीसी क्षेत्र में रहने वाले यूपी वासी श्रमजीवी का 10 वर्षीय बेटा गत रोज घर पर अकेला था। उस दौरान स्कूल बैग को डोरी के साथ बांधकर गोल गोल घूमते समय फांसी लग जाने से उसकी जान चली गई।
अंशु के माता पिता गए थे काम पर
मिली जानकारी के अनुसार यूपी के मऊ जिले के निवासी ने नेभूमल राजभर सूरत के सचिन जीआईडीसी में ईश्वर नगर सोसायटी में किराए के मकान से रहते हैं। मंगलवार सवेरे ने नेभूमल और उनकी पत्नी मालती नित्यक्रम के अनुसार सचिन जीआईडीसी में नौकरी के लिए गए थे। उस दौरान उनका 10 साल का बेटा अंशु घर पर अकेला था। इस समय अंशु ने स्कूल बैग के साथ डोरी बांधकर डोरी को दीवाल के साथ खीली से बांध दिया और स्कूल बैग का पट्टा गले में लगा लिया। जिसके चलते गोल गोल घूमते समय फांसी लग जाने से अंशु घटनास्थल पर ही अचेत हो गया। 
इस घटना से उनके माता-पिता अनजान थे लेकिन जब पड़ोसी लोगों ने खिड़की में से देखा तो अंशु को फांसी लगी थी। पडोसियों ने पुलिस को जानकारी दी। अंशु की एक बड़ी बहन भी है जो कि गांव में रहती है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें