डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम: देशवासियों के लिए प्रेरणा, भारत को मजबूत, समृद्ध और सक्षम बनाने के लिए अपना जीवन समर्पित करने वाले सच्चे नायक

(Photo Credit : sandesh.com)

आज है भारत के मिसाइल मैन और देश के 11वें राष्ट्रपति डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम की जयंती

आज भारत के मिसाइल मैन और देश के 11वें राष्ट्रपति डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम की जयंती है। डॉ। कलाम का जन्म 15 अक्टूबर 1931 को तमिलनाडु के रामेश्वरम में एक मुस्लिम परिवार में हुआ था। पूरी दुनिया उन्हें उनके नाम से कम और उनके काम से ज्यादा जानती है। देश को आधुनिक स्वदेशी मिसाइल बनाने में सक्षम बनाने वाले डॉ। मिसाइलमैन के रूप में जाने जाते हैं। कलाम का पूरा जीवन साधारण होते हुए भी असाधारण था। 15 अक्टूबर को उनके जन्मदिन पर आज पूरा देश उन्हें याद कर रहा है।
डॉ. कलाम एक प्रेरक व्यक्तित्व थे लेकिन उनका पूरा जीवन समान रूप से लोगों के लिए एक महान प्रेरणा रहा है। उन्होंने बचपन में अपने परिवार की मदद करने के लिए एक अखबार सेल्समैन के रूप में काम किया और वहीं से उन्होंने मिसाइलमैन बनने का सपना देखा और उसे पूरा किया। उनका बचपन का सपना एक पायलट बनने का था लेकिन यह संभव नहीं हो पाया और उन्होंने वैज्ञानिक बनने का फैसला किया। मिसाइल कार्यक्रम में भारत की भागीदारी के लिए वह प्रमुख योगदानकर्ताओं में से एक है। अपना सपना पूरा करने वाले डॉ। कलाम के अनुसार सपने वो नहीं होते जो हम नींद में देखते हैं, सपने वो होते हैं जो हमें सोने से रोकते हैं। अपने काम की वजह से वे लाखों युवाओं के प्रेरणा स्रोत बने।
आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूर्व राष्ट्रपति को उनके 90वें जन्मदिन पर याद किया और उनके साथ एक तस्वीर साझा की। साथ ही उन्होंने लिखा, "उन्होंने भारत को मजबूत, समृद्ध और सक्षम बनाने के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया है, और हमेशा देशवासियों के लिए प्रेरणा रहेंगे।"

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें