क्रिकेट : केन विलियम्सन और टॉम लाथम ने मिलकर भारतीय गेंदबाजों को जमकर धोया, पहले एकदिवसीय मुकाबले में न्यूजीलैंड ने भारत को सात विकेट से हराया

पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत ने न्यूजीलैंड के सामने 307 रन का लक्ष्य रखा, कीवी टीम ने 47.1 ओवर में तीन विकेट खोकर 309 रन बनाए और आसानी से लक्ष्य हासिल कर लिया

भारत और न्यूजीलैंड के बीच आज से शुरू हुए तीन मैच की वनडे सीरीज के पहले मुकाबले में भारत की करारी हार हुई है। कीवी टीम ने भारत को सात विकेट से हराकर सीरीज में बढ़त बना ली हैं। तीन मैच की टी20 सीरीज के बाद आज से एकदिवसीय सीरीज का आगाज हुआ था। इस मैच में टॉस जीतकर मेजबान टीम ने भारतीय टीम को पहले बल्लेबाजी के लये आमंत्रित किया। पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत ने न्यूजीलैंड के सामने 307 रन का लक्ष्य रखा। इसके जवाब में कीवी टीम ने केन विलियम्सन और टॉम लाथम के बीच 221 रन की साझेदारी के चलते सात विकेट रहते लक्ष्य हासिल कर लिया। इस जीत के साथ ही न्यूजीलैंड ने तीन मैच की सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली।

भारत के लिए इन्होने बनाएं रन


आपको बता दें कि तीन मैचों की वनडे सीरीज का पहला मुक़ाबला ऑकलैंड के इडेन पार्क में खेला गया। इस मैच में न्यूज़ीलैंड के खब्बू बल्लेबाज टॉम लाथम ने बेहतरीन बल्लेबाजी करते हुए अनुभवहीन भारतीय गेंदबाजों की बखिया उधेड़ दी। लाथम ने अपने वनडे करियर का सातवां शतक जड़ते हुए इस हाईस्कोरिंग मुक़ाबले में न्यूज़ीलैंड को 7 विकेट से एक आसान जीत दिला दी। वहीं मैच में पहले भारत के लिए श्रेयस अय्यर, नए कप्तान शिखर धवन और शुभमन गिल ने अर्धशतक जड़े। न्यूजीलैंड के लिए टिम साउदी और लॉकी फर्ग्यूसन ने तीन-तीन विकेट लिए थे। 

केन विलियम्सन और टॉम लाथम के आगे गेंदबाज बेबस


इसके बाद इस लक्ष्य का पीछा करने उतरी न्यूज़ीलैंड की शुरुआत बहुत अच्छी नहीं रही। 35 रन के स्कोर पर न्यूजीलैंड का पहला विकेट गिरा है। इसके बाद अपने पहले वनडे मैच में ही उमरान मलिक ने शानदार गेंदबाजी करते हुए एक के बाद एक दो विकेट चटकाए। इसके बाद केन विलियम्सन और टॉम लाथम ने मिलकर न्यूजीलैंड की पारी को संभाला और विकेट नहीं खोये और यह मुक़ाबला तीन विकेट खोकर ओवर में जीत लिया। लाथम ने 104 गेंद पर 5 सिक्स और 19 चौके की मदद से नाबाद 145 रन बनाए। उनके अलावा कप्तान केन विलियम्सन ने भी बेहतरीन अर्धशतक लगाया है। भारत के लिए सबसे ज्यादा दो विकेट उमरान मलिक ने लिए। हालांकि, इस मैच में सभी भारतीय गेंदबाज काफी महंगे साबित हुए। सुंदर ने जरूर कंजूसी से रन दिए, लेकिन वह कोई विकेट नहीं ले पाए।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें