भारतीय सीमा के नजदीक ही चीन ने शुरू की बुलेट ट्रेन की सेवा

(Photo credit : sandesh.com)

435 किलोमीटर लंबे रेल लाइन का रुलिंग पार्टी ने किया उदघाटन

भारत के पड़ोसी देश चीन के साथ पिछले काफी समय से तनावपूर्ण संबंध रहे है। इस तनावपूर्ण संबंध को और भी बढ़ाते हुये चीन ने एक और कार्य किया है। चीन द्वारा भारत की सरहद के नजदीक ही तिबेट में शुक्रवार से पहली बुलेट ट्रेन शुरू कर दी है, जो की संपूर्ण तौर पर बिजली से संचालित है। यह ट्रेन तिबेट की राजधानी ल्हासा और नियंगची को जोड़ेगा। बता दे की नियंगची अरुणाचल प्रदेश की सरहद के पास ही आया है। 
चीन की रुलिंग पार्टी कोम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना (सीपीसी) के शताब्दी समारोह के पहले ही इस 435.5 किलोमीटर लंबे रुट का उदघाटन किया गया। यह रूट सिचुआन-तिबेट रेलवे के हस्तक है। बता दे की यह रेलवे लाइन किंगहाई-तिबेट रेलवे लाइन के बाद दूसरी लाइन है। उल्लेखनीय है की पिछले साल नवंबर में ही चीनी राष्ट्रपति शी जिंपिंग ने आदेश देकर सिचुआन इलाके को तिबेट में नियंगची से जोड़ने वाली रेल योजना के काम को तेजी से पूरा करने का आदेश दिया था। 
उल्लेखनीय है की पिछले कई समय से चीन और भारत के बीच अरुणाचल प्रदेश के कुछ हिस्से को साउथ तिबेट का हिस्सा होने की बात को लेकर विवाद चल रहा है। बता दे की पिछले कई समय से भारत की सरहद के नजदीक चीन लगातार अपनी सैन्य गतिविधियां बढ़ा रहा है। पिछले कई महीनों से चीन के पर्वतीय इलाकों में वह सैन्य शक्ति का परीक्षण कर रहा है। कुछ ही समय पहले चीन के सश्स्त्र दलों ने पर्वतों के बीच 3700 मीटर की ऊंचाई से एक ड्रिल को सफलतापूर्वक पूर्ण किया था। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें