यहाँ सालों से ऐसे ही पड़ी हैं गाड़ियाँ, कबाड़ हो चुकी कारों में से निकल आये पेड़-पौधे

(Photo Credit- imgur.com)

सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल भी हो रही जगह का द्वितीय विश्व युद्ध से है संबंध

क्या आप इस बात पर यकीं कर सकते है कि कार पर कोई पेड़ उग आया हो? सुनने में अजीब लगेगा पर एक ऐसी जगह है जहाँ सैकड़ों कारों पर पेड़-पौधे उग आये है। हम जिस जगह की बात कर रहे है उस जगह का नाम चैटिलोन कार ग्रेवयार्ड हैं। ये एक ऐसी जगह है, जहां बीते 75 सालों से कारों का जाम लगा हुआ हैं। हालत ऐसी हो चुकी है कि अब इन कारों में से कई पेड़ों की टहनियां निकल चुकी हैं।
(Photo Credit- imgur.com)
जानकारी के अनुसार ये कारें द्वितीय विश्व युद्ध की मानी जा रही और ऐसा मन जा रहा की ये उस वक्त से ही यहां खड़ी की गई थीं। इसके साथ साथ इस जगह को लेकर कई कहानियां प्रचलित हैं। फिलहाल आस-पास के लोगों के लिए हॉन्टेड बन चुकी इस जगह की कुछ तस्वीरें सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल भी हो रही है।
आपको बता दें कि इतनी सारी कारों का एक जगह खड़ा होना ही अपने आपमें रहस्य है। इस जगह को लेकर कहानियां ये भी हैं कि ये कारें अमेरिकी सैनिकों से जुड़ी हुई हैं।
(Photo Credit- imgur.com)
इनको लेकर ये मान्यता भी है कि द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान ज़ंग खाई, टूटी-फूटी और बेकार हो चुकी इन कारों को अमेरिकी सैनिक इस्तेमाल करते थे। उन्होंने इन कारों को यहां छिपाकर रखा था, ताकि वे युद्ध के बाद अपने घरों को खुशी से जा पाएं। ये गांव जंगल के बीच में हैं और यहां लगे पेड़ों के बीच कारों को छिपाना आसान था। वे वापसी में इन्हीं कारों से अपने घर जाना चाहते थे। हालांकि इस जगह के लोग इस कहानी पर यकीन नहीं करते। उन लोगों का मानना है कि ये अन्य कार डंप करने वाली जगह की तरह ही है। 
ऐसे में सच्चाई क्या है, ये तो कोई नहीं जानता, लेकिन लोग अमेरिकी सैनिकों वाली कहानी को सही मान कर भुत के कारण यहाँ आने से बचते हैं। गौरतलब है कि साल 2010 में खोजी गई इस जगह पर लगभग 500 पुरानी गाड़ियां खड़ी हैं। ये जगह रहस्य और आकर्षण का केंद्र बन चुकी है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें