कैलिफ़ोर्निया : 300 सालों से अबूझ पहेली बनी हुई है ये “अजीब परछाइयाँ”, जानिए क्या कहते हैं वैज्ञानिक

(Photo : IANS)

हैट या टोपी के साथ जैकेट पहने हुए दिखाई देती है ये परछाइयाँ

आजकल कैलिफ़ोर्निया में लोग अजीब तरह की परछाइयों और छाया से परेशान हैं। यहां अजीब सी परछाइयां देखने को मिलती हैं। ये परछाइयाँ कभी टोपी में और कभी जैकेट जैसे कपड़ों में सांता लूसिया पर्वत पर चलते हुए या लोगों को देखते हुए देखाई देती है। अक्सर ये परछाइयाँ आसमान में उड़ती हुई देखी जाती हैं। कुछ पल के लिए सामने होने के बाद यह अचानक गायब हो जाती है। पिछले 300 सालों से इस पहाड़ पर आने वाले पैदल यात्री इसे लगातार देख रहे हैं। आइए जानते हैं कि इस बारे में क्या कहते हैं वैज्ञानिक!
क्या है डार्क वॉचर्स?
इन परछाइयों को कैलिफोर्निया में डार्क वॉचर्स कहा जाता है। ये परछाइयां हल्के धुंधले होते हैं। 10 फीट तक लंबाई वाले ये डार्क वॉचर्स ज्यादातर हैट या टोपी के साथ जैकेट पहने हुए दिखते हैं। सामान्यतःये परछाइयाँ दोपहर या उसके बाद अंधेरा होने से तक दिखाई देते हैं। पिछले 300 वर्षों से कैलिफोर्निया में सांता लूसिया पर्वत की पहाड़ियों में लंबी पैदल यात्रा कर रहे लोग इन परछाइयों को देखते आ रहे है। हालांकि अब तक इन डार्क वॉचर्स से किसी को कोई नुकसान नहीं हुआ है।
क्या कहते है मनोवैज्ञानिक
इस मामले में मनोवैज्ञानिकों का कहना है कि डार्क वॉचर्स जैसी कोई चीज नहीं है। दरअसल लोग इस पर्वत पर प्रकाश और अंधकार द्वारा बनने वाली आकृतियाँ डरावनी परछाई बन जाती हैं और लोग इसे डार्क वॉचर्स मान लेते है। यह लोगों के दिमाग का भ्रम या फिर उनका अंधविश्वास है। यह पेरिडोलिया का मामला हो सकता है।
क्या है शोधकर्ताओं की राय
कुछ शोधकर्ताओं का भी मानना वहीं है जो मनोवैज्ञानिक मानते है कि ये छाया पहाड़ की स्थिति, प्रकाश और बादलों के कारण होती है। जिसे लोग डार्क वॉचर्स कहने लगे हैं। यह दोपहर में देखा जाता है क्योंकि सूर्य की स्थिति ऐसी है कि छाया बनना शुरू हो जाती है।
हार्ज पर्वत के पास भी पाया गया
आपको बता दें कि हार्ज माउंटेन के पास रहने वाले जर्मनी के स्थानीय लोग भी ऐसी ही कहानियां सुनाते हैं। लोगों का कहना है कि उन लोगों को भी सैकड़ों सालों से ब्रोकेन पीक पर ऐसे ही डार्क वॉचर्स नज़र आते हैं। लेकिन आमतौर पर ऐसा तब होता है, जब पहाड़ के ऊपर बादल होते हैं और सूरज विपरीत दिशा में होता है।
ये हो सकता है इसका कारण 
ऐसी जानकारी भी मिली है कि इन डार्क वॉचर्स सतरंगी हैलो  भी दिखाई देते है। ये पानी की बूंदों से परावर्तित होकर सूरज की रोशनी की वजह से बनता है। इसी तरह हार्ज माउंटेन पर यह प्रक्रिया बेहद सामान्य है। वहां अधिकांश धुंध, बादल और कोहरे की वजह से हमेशा ओस की बूंदें जमा रहती हैं। ऐसे में डार्क वॉचर्स बनना आम बात है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें